-बुलंदशहर की घटना से सबक लेते हुए पुलिस ने तैयार की पशु तस्करों की लिस्ट

- 5 वर्ष में बड़ी संख्या में पकड़े गए पशु तस्करों की नहीं हुई थी निगरानी

BAREILLY: जिले में करीब 2400 पशु तस्कर ऐसे हैं, जो खुलेआम घूम रहे हैं. ना तो पुलिस ने उनकी निगरानी की व्यवस्था की है और ना ही पुलिस को पता है कि इस वक्त वे कहां और क्या कर रहे हैं? गोकशी के शक में बलुंदशहर में हुए उपद्रव की घटना से सबक लेते हुए बरेली पुलिस ने पशु तस्करों की लिस्ट तैयार करने के साथ इनके खिलाफप्रिवेंटिव एक्शन लेने की तैयारी कर ली है. साथ ही पशु तस्करों की निगरानी के लिए उनके घर के बाहर डुगडुगी भी पिटवाएगी ताकि मोहल्ले वालों को भी पता चल पाए कि उनके एरिया में पशु तस्कर रह रहा है.

एसआई पर तस्करी में शामिल होने का आरोप

एसएसपी मुनिराज के निर्देश पर एसपी सिटी और एसपी रुरल ने पशु तस्करों का रिकॉर्ड तैयार कर कार्रवाई शुरू कर दी है. बरेली में भी पशु तस्कर एक एसआई समेत 3 पुलिसकर्मियों की हत्या कर चुके हैं. थर्सडे को भोजीपुरा के एक एसआई के खिलाफ पैसे लेकर पशु तस्करी कराने का आरोप लगा है. यूपी पुलिस के ट्विटर हैंडल पर इसकी शिकयत राजेश मिश्रा नाम के व्यक्ति ने की है. इसके बाद इस मामले की जांच सीओ नवाबगंज को सौंप दी गई है.

सिर्फ 100 तस्कर ही जेल में

पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार पिछले 5 वर्षो के दौरान सिटी के 10 थानों में करीब 650 और रूरल एरिया के 19 थानों में 1850 पशु तस्करों के खिलाफ मामले दर्ज हुए हैं. इनमें से लगभग 100 ही जेल में बंद हैं, बाकी सभी खुलेआम घूम रहे हैं.

100 से अधिक लापता

करीब 100 से अधिक पशु तस्कर लापता हैं, जिनका पुलिस के पास कोई रिकॉर्ड नहीं है. करीब साढ़े 350 पर ही प्रिवेंटिव एक्शन लिया गया. अन्य पशु तस्करों पर पुलिस ने न तो गुंडा एक्ट लगाया और ना ही गैंगस्टर की कार्रवाई की. यही नहीं 1077/116 में भी कोई कार्रवाई नहीं की.

गोकशी को लेकर नाराजगी

गोकशी की लगातार वारदातों से पब्लिक में पुलिस के प्रति नाराजगी है. 15 दिन पहले सुभाषनगर के रामलीला ग्राउंड और रामपुर गार्डन में पशु तस्करी के मामले सामने आए थे, लेकिन पुलिस ने कोई ठोस कार्रवाई नहीं की. पुलिस पशु तस्करों की बरामद गाडि़यों के असली मालिकों का भी पता नहीं लगा सकी है.

-------------------------

वर्जन

गोकशी को रोकने के लिए कार्रवाई की जा रही है. पिछले 5 वर्षो के दौरान पकडे़ गए पशु तस्करों के खिलाफ प्रिवेंटिव एक्शन लेने के निर्देश दिए हैं.

मुनिराज जी, एसएसपी