टॉप 10 में शामिल हुए बालकृष्‍ण
भारत के सबसे अमीर शख्‍स की बात होती है, तो हमेशा से पहला नाम मुकेश अंबानी का आता रहा है। चाइना बेस्‍ड हुरुन कंपनी ने अपनी एक रिपोर्ट जारी की है। इसमें भारत के 10 सबसे अमीर शख्‍सियतों के नाम शामिल हैं। मुकेश अंबानी की संपत्‍ति 58 फीसदी बढ़कर 2.57 लाख करोड़ हो गई है। अंबानी लगातार 6वीं बार पहले नंबर पर रहे हैं। इस साल सबसे हैरान करने वाला नाम है, आचार्य बालकृष्‍ण का। पतंजलि कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्‍टर बालकृष्‍ण का नाम देश के 10 सबसे अमीर लोगों में गिना जाने लगा है।
एक साल में 17 अरबपतियों को पीछे छोड़ दिया आचार्य बालकृष्‍ण ने,जानें कितना कमाया पैसा
एक साल में 17 अरबपतियों को पीछे छोड़ा
हुरुन इंडिया के बयान के अनुसार पतंजलि के बालकृष्ण देश के दस सबसे अमीर लोगों की सूची में जगह बनाने में सफल रहे। सूची में बालाकृष्ण ने अच्छी छलांग लगाई और 8वां स्थान हासिल किया। पिछले साल वह 25वें स्थान पर थे। उनकी संपत्ति 173 फीसद बढ़कर 70,000 करोड़ रुपये हो गई। पतंजलि का कारोबार बीते वित्त वर्ष में बढ़कर 10,561 करोड़ रुपये हो गया। यानी कि दूसरे एफएमसीजी कंपनी को पतंजलि से कड़ी टक्‍कर मिलने लगी है।
एक साल में 17 अरबपतियों को पीछे छोड़ दिया आचार्य बालकृष्‍ण ने,जानें कितना कमाया पैसा
सबसे ज्‍यादा मुनाफा डी-मार्ट को

इस लिस्‍ट में डी-मार्ट ग्रुप की कंपनी एवेन्यू सुपरमा‌र्ट्स के चेयरमैन दमानी का नाम भी शामिल है। डी-मार्ट के दमानी की संपत्ति में सबसे ज्यादा 320 फीसद का इजाफा हुआ है। एंड्योरेंस टेक के अनुराग जैन भी इस लिस्‍ट में जगह बना पाने में सफल रहे। उनकी संपत्ति में 286 फीसद का इजाफा हुआ।
एक साल में 17 अरबपतियों को पीछे छोड़ दिया आचार्य बालकृष्‍ण ने,जानें कितना कमाया पैसा
बसे युवा अरबपति
मीडियाडॉटनेट के 34 वर्षीय दिव्यांक तुराखिया सबसे युवा अमीर हैं जिन्होंने सूची में स्थान बनाया। उनकी संपत्‍ति करीब 91 अरब रुपये है। खास बात यह भी है कि उन्होंने अपना मुकाम खुद अपने बूते पर हासिल किया है। उनके साथ पांच अन्य अंडर-40 लोगों ने सूची में जगह बनाई। ये सभी टेक्नोलॉजी बिजनेस से जुड़े हैं और उन्होंने संपत्ति खुद अपने बूते पर अर्जित की है।
एक साल में 17 अरबपतियों को पीछे छोड़ दिया आचार्य बालकृष्‍ण ने,जानें कितना कमाया पैसा

Business News inextlive from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk