patna@inext.co.in

PATNA : पटना में हर घर में एक व्यक्ति बीमार है. दिनचर्या और व्यायाम से दूरी ने उन्हें हड्डियों से जुड़ी बीमारी जकड़ रही है. अधिकतर लोगों को कम उम्र में ही अर्थराईटिस हो रही है और सर्वाइकल का रोग भी सता रहा है. पटना में डॉक्टरों के पास मरीजों की भीड़ बढ़ गई है. डॉक्टरों का कहना है कि एक्सरसाइज से दूरी और लाइफ स्टाइल के कारण ही ऐसे मरीजों की संख्या बढ़ रही है.

हर दूसरा मरीज सर्वाइकल रोगी

पटना में हड्डी रोग विशेषज्ञों के पास आने वाले मरीजों में हर दूसरा पेशेंट सर्वाइकल की शिकायत लेकर आता है. इसे लेकर डॉक्टरों का कहना है कि काफी दिनों से एक्सरसाइज की दूरी और काम के बोझ के साथ लाइफ स्टाइल बड़ा कारण है. पटना में अपार्टमेंट कल्चर ने भी लोगों की समस्या बढ़ा दी है. डॉक्टरों का कहना है कि इधर दो तीन साल में समस्या तेजी से बढ़ी है. शहर की अपेक्षा गांव में ऐसी शिकायत कम मिल रही है क्योंकि वहां फिजिकल वर्क अधिक होता है.

60 फीसदी को सर्वाइकल की समस्या

पटना के सांई हेल्थ केयर एंड वेलनेस सेंटर में आयोजित हेल्थ कैंप में पटना में बढ़ रहे हड्डी के मरीजों का खुलासा हुआ है. डॉक्टर्स का कहना है कि कैंप में 100 से अधिक मरीज आए जिसमें सबसे अधिक सर्वाइकल के रोगी रहे. 60 प्रतिशत मरीजों को सर्वाइकल है और 40 प्रतिशत से अधिक मरीजों को अर्थराइटिस है. बच्चों में भी तेजी से समस्या बढ़ रही है क्योंकि वह आउटडोर गेम से अधिक इनडोर गेम में लगे रहते हैं.

-लाइफ स्टाइल में बदलाव करें.

-खान-पान में सावधानी बरतें.

-फास्ट फूड से दूरी बनाएं और बच्चों को भी इससे बचाएं

-सुबह कम से कम 40 मिनट मार्निग वॉक करें.

-घुटनों और हड्डियों को स्वस्थ्य रखने के लिए एक्सरसाइज करें.

-मांसपेशी में खिंचाव हो या अन्य समस्या पर तत्काल फीजियो थेरेपिस्ट से मिलें.

-फिजियोथेरेपी की मदद से व्यस्त जीवनशैली में भी फिट हो सकते हैं.

कैेंप में डॉक्टरों ने दिए टिप्स

सर्वाइकल और अर्थराइटिस के रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. इसके लिए काफी हद तक अपार्टमेंट कल्चर और लाइफ स्टाइल जिम्मेदार है. दिनचर्या में सुधार और खान पान में बदलाव लाकर नियमित एक्सरसाइज कर हम बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं.

डॉ राजीव कुमार सिंह,

एमडी, सांई फिजियो एंड वेलनेस सेंटर