PATNA / CHAPRA : रोजगार की तलाश में घर से निकल परदेस जा रहे युवक की शुक्रवार को बलिया जिले के सहतवार स्टेशन के समीप ट्रेन से कटकर हुई मौत के बाद शनिवार को शव पहुंचते ही गांव में मातम छा गया. शव के पहुंचते ही परिजनों के रोदन क्रंदन से घर में कोहराम मच गया. मृतक अमनौर हरनारायण निवासी हरेंद्र ठाकुर का फ्ख् वर्षीय पुत्र मुकेश ठाकुर बताया जाता है. परिजनों का कहना है कि मुकेश ने अपनी पत्नी निर्मला देवी का छपरा में इलाज कराने के बाद उसे उनकी बहन के पास पहुंचाया तथा रोजी रोजगार के चक्कर में ट्रेन पकड़ कर बंगलौर के लिए रवाना हुआ.

गाड़ी छपरा से चलकर यूपी की सीमा में प्रवेश कर बलिया जिले के सहतवार स्टेशन पहुंची. वह पानी लेने के लिए नीचे उतरा था. दुबारा ट्रेन में सवार होने के दौरान पैर फिसल गया तथा नीचे गिर जाने से उसका एक पैर कट गया. जिससे वह गंभीर रूप से लहुलुहान हो गया. आरपीएफ द्वारा अस्पताल ले जाने के दौरान उसकी मौत हो गई.

उसके पास से बरामद पहचान पत्र के आधार पर पुलिस ने उसकी पहचान कर परिजनों को सूचित किया. युवक की मौत से घर में पत्नी एवं माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा है. मुकेश तीन भाईयों में सबसे छोटा था. पूर्व में वह छपरा कें सैलून में काम करता था. कम पैसा मिलने के कारण परिजनों का लालन पालन सही ढंग से नही कर पा रहा था. जिस कारण उसने बाहर जाने का मन बनाया. उसकी मौत से तीन मासूमच्बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया है. पत्नी समेतच्बच्चों पर मानों दुख का पहाड़ टूट पड़ा है.