PATNA : देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के बेहतरीन संग्रहालयों में शुमार होने वाले पटना संग्रहालय में सुरक्षा का घोर अभाव है. अंतर्राष्ट्रीय स्तर के संग्रहालयों में जिस तरह की सुरक्षा और सुविधाएं मयस्सर होती हैं वह यहां नहीं मिल रही हैं. पटना संग्रहालय में बुद्ध अस्थिकलश के चलते बौद्ध पर्यटकों के लिए यह आकर्षण का केन्द्र रहता है. मोनालिसा की तरह विश्व की अनुपम कृतियों में शुमार होनेवाली यक्षिणी की मूर्ति भी पर्यटकों को यहां खींच लाती है. पर अफसोस की बात है कि इन अनमोल मूर्तियों की सुरक्षा का दावा करने वाली राज्य सरकार सुरक्षा की जिम्मेवारी ऐसे लोगों पर सौंपी है जिसे साल भर से वेतन नहीं मिला है. हम बात कर हैं म्यूजियम सुरक्षा में लगे 'सारा सिक्यूरिटी कंपनी' के सिक्यूरिटी गार्ड की. संग्रहालय की सुरक्षा में लगे गार्डो के अनुसर इन्हे ब् माह से वेतन नहीं मिला है. समय पर वेतन नहीं मिलने से कई गार्ड अबतक जॉब छोड़ भाग चुके हैं. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने सुरक्षा में लगे सुरक्षा प्रहरियों की हकीकत जानने की कोशिश की तो सामने आया सच . पढि़ए स्पेशल रिपोर्ट..

दुर्लभ मूर्तियों का है यहां संग्रह

आधुनिक म्यूजियम के वर्गीकरण व गुणवत्ता के आधार पर पटना संग्रहालय को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का माना जाता है. प्रस्तर शिल्प कला, धातु शिल्प कला, पाल कला, मौर्यकालीन कई ऐसी दुर्लभ मूर्तियां यहां हैं जो दुनिया के किसी म्यूजियम में नहीं है. प्रस्तर शिल्प कला, धातु शिल्प कला, पाल कला, मौर्यकालीन कई ऐसी दुर्लभ मूर्तियां यहां हैं जो दुनिया के किसी म्यूजियम में नहीं है.

-सितम्बर ख्0क्म् से नहीं मिली सैलरी

नाम न छापने कि शर्त पर पटना म्यूजियम में लगे एक सुरक्षा प्रहरी ने बताया कि हमें सितम्बर ख्0क्म् से वेतन नहीं मिला है. यहां के गार्ड वेतन की आस में गरीबी एवं आर्थिक दशा से तंग आकर भागने लगे हैं. इससे पहले भी ब्राइट सिक्यूरिटी कंपनी का यही हाल था.

9म् कर्मी लगे हैं सुरक्षा में

-गार्ड ने बताया कि पटना म्यूजियम सहित अन्य जिलों के संग्रहालयों में कुल 9म् सुरक्षाकर्मी तैनात हैं. पर इन्हें समय पर वेतन नहीं मिल रहा. ऐसी स्थिति में सुरक्षा गार्ड नौकरी छोड़कर कोई और नौकरी ढूंढ लेते हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दरभंगा के दोनों संग्रहालयों में गृह विभाग ने पुलिस बल वापस ले लिया है. ऐसे कभी भी वहां चोरी हो सकता है.

किस संग्रहालय में कितने हैं गार्ड

संग्रहालय गार्ड की संख्या वर्तमान स्थिति

पटना संग्रहालय क्0 भ्

शहीद सुरज नारायण सिंह संग्रहालय ब् 0

बृज बिहारी स्मृति संग्रहालय ब् 0

कर्पूरी ठाकुर संग्रहालय ब् 0

सितम्बर ख्0क्म् से कला संस्कृति विभाग की ओर से पेमेंट नहीं मिला है तो अपने कर्मचारियों को कैसे पेमेंट करूंगा. प्रधान सचिव से भी इस विषय में गुहार लगा चुका हूं. पर अबतक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है.

- बी.के सिन्हा, एमडी सारा सिक्योरिटी

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने की कला संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि से सीधी बात..

रिपोर्टर : सर, सितम्बर ख्0क्म् से राज्य के संग्रहालय की सुरक्षा में लगे गार्ड को वेतन नहीं मिल रहा, क्यों?

मंत्री- वेतन नहीं मिला है? ऐसा नहीं हो सकता. यदि ऐसा है तो मैं चेक करवाता हूं.

रिपोर्टर - सारा सिक्योरिटी के इंजार्च कह रहे हैं विभाग से पैसा नहीं मिल रहा. ऐसे में गार्ड को पेमेंट कैसे होगा?

मंत्री - सिक्योरिटी हमारे विभाग के कर्मचारी नहीं हैं.

रिपोर्टर - तो इन समस्याओं का आखिर समाधान कौन करेगा?

मंत्री - देखिए, यदि किसी गार्ड को वेतन नहीं मिल रहा है तो सीधे तौर पर कंपनी जिम्मेदार है. इसे मैं चेक करवाता हूं.

रिपोर्टर - पटना के अलावा पूरे बिहार के संग्रहालय में यही हाल है.

मंत्री - सिक्योरिटी के अधिकारी क्लेम नहीं किया होगा. इसलिए विभाग द्वारा पैसा जारी नहीं किया गया होगा.

रिपोर्टर- आपके विभाग के प्रधान सचिव से कंपनी के अधिकारी ने बात तो किया है.

मंत्री -मुझे इसकी जानकारी नहीं है. यदि ऐसा है तो मैं इस मामले में कार्रवाई करवाता हूं.