-बहादुरपुर के थानाध्यक्ष पर लगा फर्जी केस दर्ज करने का आरोप

क्कन्ञ्जहृन्: पुलिस की गिरती साख को बचाने के लिए अफसर दिन रात एक कर नए प्लान पर काम कर रहे हैं लेकिन थानेदार उनकी मंशा पर पानी फेर रहे हैं. थानेदारों पर फर्जी मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने के साथ अवैध वसूली का आरोप लग रहा है.

शिकायतों की सूची लंबी है लेकिन कार्रवाई उसी में होती है जो आला अफसरों की टेबल पर पहुंच पाती है. बहादुरपुर थानाध्यक्ष पर भी फर्जी तरीके से मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने का आरोप लगा है. आरोप दबंगों से मिलकर जमीन कब्जा कराने को लेकर भी है. आईजी ने इस मामले को गंभीरता से लिया और जांच के लिए टीम गठित कर दी है.

साहब आपकी पुलिस ने बहुत गलत किया

बहादुर थाना एरिया के बाजार समिति निवासी अजय खत्री और उनकी पत्‍‌नी बुधवार को पटना के जोनल आईजी नैय्यर खान से मिले और आंखों में आंसू भरकर बोला, साहब आपकी पुलिस ने मेरे साथ बहुत गलत किया है. पीडि़त दंपति ने जोनल आईजी नैय्यर हसनैन खां से कहा कि बहादुरपुर थानाध्यक्ष दबंगो से मिलकर मेरे घर पर बदमाशों को कब्जा दिला दिया है. वहीं हम दोनों दंपति को झूठे केस बनाकर जेल भेज दिया गया.

कागजात फिर भी किया कब्जा

पीडि़त दंपति ने कहा कि वह जमीन खरीद कर कई वर्ष पूर्व एक मंजिला मकान बनाया. बैंक से लोन लेकर उसे दो मंजिला और तीन मंजिला बनवाया. बिजली के बिल से लेकर जमीन के दाखिल खारिज का पूरा कागजात उनके पास है. उनका कहना है कि पूर्व में अनुमंडलधिकारी ने भी उनके पक्ष में निर्णय दिया है.

आईजी ने कहा- मिलेगा न्याय

आईजी नैय्यर हसनैन खां ने मामले को गंभीरता से लिया और जांच टीम गठित कर तीन दिन के अंदर जांच रिपोर्ट मांगी है. आईजी ने कहा कि पुलिस को सभी पीडि़त पक्षों को सुनना चाहिए.

आरोप गंभीर है और इसमें जांच के आदेश दिए गए हैं. जांच रिपोर्ट आने के बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.

-नैय्यर हसनैन खां, जोनल आईजी पटना