डार्क वेब की मॉनिटिरिंग से पता चलेगा डेटा या पासवर्ड की चोरी का
कानपुर। दुनिया भर में इंटरनेट तो हम सब यूज करते हैं और अपने तमाम ऑनलाइन अकाउंट्स के लिए अलग-अलग पासवर्ड भी बनाते हैं लेकिन कब कौन सा पासवर्ड लीक हो जाए या गलत हाथों में चला जाए, पता करना मुश्किल है। पर अब इस ऑनलाइन खतरे से बचा जा सकता है। सी-नेट की रिपोर्ट बताती है कि दुनिया भर में फेमस पासवर्ड मैनेजर डैशलेन अपने यूजर्स के लिए एक ऐसी ऑनलाइन सिक्योरिटी सर्विस लेकर आया है जो इंटरनेट के डार्क वेब में आपके डेटा या फिर पासवर्ड की लीक या चोरी की जानकारी फौरन आपको देगा, ताकि डेटा या पैसों के नुकसान से पहले आप ही आप अपने पासवर्ड बदल सकें। ऐसा करने के लिए डैशलेन ने अपनी ऐप में खासतौर पर डार्क वेब मॉनिटिरिंग फीचर जोड़ा है।

डार्क वेब पर आपका पासवर्ड लीक होते ही भेजेगी एलर्ट मैसेज,यह ऐप है बड़े काम की

क्या होता है डार्क वेब?
इंटरनेट का संसार बहुत बड़ा है। हम सर्च इंजन पर बहुत सारी चीजें सर्च करते हैं। वो वेबसाइट या पेजेस इस दुनिया में कहीं भी बने हों, हमें सर्च इंजन पर दिख जाते हैं लेकिन पूरे इंटरनेट पर तमाम ऐसे छुपे हुए पेजेस और सर्विसेज हैं जिनमें ऐसी बहुत सारी वेबसाइट और डेटा मौजूद हैं। जो किसी भी सर्च इंजन पर दिखाई नहीं देते। डेलीमेल के मुताबिक, इंटरनेट के इन छुपे हुए हिस्सों को ही डार्क वेब कहा जाता है। डार्क वेब में नशीली दवाओं के कारोबार, चुराए गए लॉगिन पासवर्ड या नेट बैंकिंग डिटेल्स, हथियारों की बिक्री और वैश्यावृति जैसे कामों से जुडी़ तमाम वेबसाइटें मौजूद होती हैं। डैशलेन पासवर्ड मैनेजर अब इसी डार्क वेब की डीप मॉनिटिरिंग करेगा और अपने यूजर्स के किसी भी डेटा या पासवर्ड के लीक या शेयर होने की सूचना नोटिफिकेशन द्वारा अपने यूजर्स को तुरंत देगा ताकि वह आने वाले किसी भी खतरे या फ्रॉड से बच सकें।

डार्क वेब पर आपका पासवर्ड लीक होते ही भेजेगी एलर्ट मैसेज,यह ऐप है बड़े काम की

पीसी समेत एंड्रॉयड पर भी मिलेगी यह सुविधा
डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक ऐसे सभी यूजर्स जो अपने तमाम ऑनलाइन अकाउंट में एक ही ईमेल एड्रेस और एक ही तरह के कॉन्बिनेशन वाले पासवर्ड सेट करते हैं। उनके ऑनलाइन अकाउंट्स की डीटेल्‍स या लॉगिन डिटेल्स लीक होने का खतरा हमेशा बना रहता है। ऐसे में डैशलेन सॉफ्टवेयर और ऐप का लेटेस्ट अपडेट यूजर्स को उसी वक्त फौरन अलर्ट कर देगा, जब उसके खाते के लॉगइन डिटेल से जुड़ी कोई भी जानकारी डार्क वेब पर कहीं भी लीक या शेयर की जाएगी। तो अगर आप भी तरह तरह के पासवर्ड लिखने और याद करने की झंझट से ऊब चुके हैं तो आपको भी डैशलेन की इस सिक्योरिटी सर्विस का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। बता दें कि डैशलेन पासवर्ड मैनेजर की यह सर्विस विंडोज, मैक कंप्‍यूटर के साथ साथ एंड्रॉयड और आईफोन पर भी मिल रही है।

व्‍हाट्सएप पर फेक न्‍यूज को पहचानना अब होगा सबसे आसान, भारत में बन रहा यह नया मोबाइल टूल

3 भारतीय स्टूडेंट्स ने बनाई फर्जी दवाएं पहचानने वाली मोबाइल ऐप, माइक्रोसॉफ्ट ने दिया हजारों डॉलर का ईनाम

अब एंड्रॉयड फोन पर बिना ट्रूकॉलर के पता चलेगी कॉलर ID और मिलेगा स्पैम प्रोटेक्शन, गूगल ने शुरू किया ये फीचर

Technology News inextlive from Technology News Desk