दैनिक जागरण आई नेक्स्ट एक्सक्लूसिव

-डाकघरों और बैंकों में आधार कार्ड बनवाने और करेक्शन कराने के लिए भटक रहे हैं कानपुराइट्स

-50 परसेंट से ज्यादा सेंटर्स पर नहीं बन रहे हैं आधार कार्ड, टेक्निकल प्रॉब्लम काम न होने की बड़ी वजह

kanpur@inext.co.in

KANPUR: आधार कार्ड सॉफ्टवेयर के 'हैक' होने की खबरों के बीच एक ओर सच्चाई सामने आई है. प्राइवेट वेंडर्स की जबरन वसूली को रोकने के लिए पोस्ट ऑफिस और प्राइवेट बैंकों को आधार बनाने और करेक्शन करने की जिम्मेदारी देने का निर्णय सरकार के गले की फांस बन गया है. क्योंकि सरकारी उदासीनता के चलते कानपुराइट्स को आधार कार्ड बनवाने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है. जिससे लाखों लोगों का आधार 'अधर' में लटक गया है.

50 परसेंट सेंटर्स सिर्फ 'दिखावा'

दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट ने जब शहर में आधार सेंटर्स की पड़ताल की तो मालूम चला कि कानपुर में करीब 50 आधार सेंटर्स हैं, जिनमें 50 परसेंट से ज्यादा खराब पड़े हैं. ऐसे में लोगों को आधार से रिलेटेड कोई भी काम कराने के लिए काफी भटकना पड़ रहा है. जो चल रहे हैं वो भी पूरी क्षमता से काम नहीं कर रहे हैं. जिससे पब्लिक परेशान हो रही है. प्राइवेट वेंडर्स की बढ़ती अवैध वसूली के चलते सरकार ने सभी प्राइवेट आधार वेंडर्स को बंद कर दिया था. नियमों के तहत हर शहर में सभी प्राइवेट बैंकों की 10 परसेंट शाखाओं और पोस्ट ऑफिसेस में आधार सेंटर खोला जाना अनिवार्य कर दिया गया था. शहर में 18 बैंकों की ब्रांचेज में आधार कार्ड बनाने के लिए सिस्टम इंस्टॉल किया गया था, लेकिन यूआईडीएआई की वेबसाइट में दी गई जानकारी के मुताबिक शहर में 25 से ज्यादा जगहों पर आधार सेंटर खराब हैं.

--------------

बैंक नहीं ले रहे इंट्रेस्ट

इंडियापोस्ट की कई शाखाएं ऐसी हैं, जहां आधार बनाने का काम बंद है. वहीं ज्यादातर प्राइवेट बैंक में आधार कार्ड का कार्य पूरी तरह से बंद है. अधिकारियों के मुताबिक प्राइवेट बैंक इस काम में इंट्रेस्ट नहीं ले रहे हैं और टेक्निकल प्रॉब्लम बताकर पल्ला झाड़ रहे हैं. ट्रांसपोर्ट नगर में प्राइवेट बैंक की 3 शाखाओं में आधार सिस्टम इंस्टॉल है, लेकिन एक में भी काम नहीं चल रहा है. यही हाल अन्य एरियॉज का भी है.

--------------

कर्मचारियों को दी गई थी ट्रेनिंग

आधार कार्ड व्यवस्था पोस्ट ऑफिसेस और बैंक में शुरू करने से पहले सभी कर्मचारियों को आधार सिस्टम ऑपरेट करने की ट्रेनिंग दी गई थी. ताकि किसी भी कर्मचारी का ट्रांसफर होने के बाद उसकी जगह आए नए कर्मचारी के आने से काम प्रभावित न हो. शहर में लगभग 99 परसेंट लोगों की आधार आईडी बन चुकी है. नए बच्चों और आधार कार्ड अपडेट करने का कार्य ही किया जाता है, लेकिन इसके लिए भी लोगों को भटकना पड़ रहा है.

--------------

रूरल एरियॉज में परेशानी ज्यादा

शहर के आउटर एरिया सरसौल, सचेंडी, महाराजपुर में आधार कार्ड बनाने का काम लगभग ठप ही है. सरसौल और सचेंडी में इंडिया पोस्ट में आधार बनाने का काम किया जाता है, लेकिन पिछले 1 महीने से वह भी बंद है.

------------

किसकी है कितनी फीस?

-नया आधार बनवाने में किसी भी तरह का कोई चार्ज नहीं लिया जाता है.

-5 से 15 साल तक के बच्चों की बायोमैट्रिक अपडेट पूरी तरह फ्री.

-आधार में अपडेट के लिए 25 रुपए और 18 परसेंट जीएसटी लिया जाता है.

---------------

क्या है आधार की स्थिति

-18 बैंकों की 10 परसेंट शाखाओं में आधार सर्विस अवेलेबल.

-10 से 5 बजे तक आधार कार्ड से जुडे़ कार्य करा सकते हैं लोग

-16 सर्किल में यूआईडीएआई ने कानपुर नगर को बांटा है.

--------------

किन एरियाज में कितने बंद और कितने चालू हैं

एरिया बंद चालू

अर्मापुर 1 2

गोविंद नगर 2 2

हंस नगर 2 2

आईआईटी 0 1

जूही कॉलोनी 1 2

कानपुर यूनिवर्सिटी 1 1

कानपुर 4 8

शास्त्री नगर 1 1

ट्रांसपोर्ट नगर 3 1

कानपुर नगर 3 4

नवाबगंज 0 1

किदवई नगर 1 1

पनकाबहादुर नगर 0 1

आरके नगर 5 3

सरसौल 0 1

सचेंडी 0 1

----------------

मेरे पास आधार कार्ड न बनाए जाने को लेकर कोई सूचना नहीं है. अगर आधार कार्ड नहीं बन रहे हैं तो मैं इसे बैंकों और पोस्ट ऑफिसेस में चेक करवाऊंगा. आधार कार्ड बनवाने में पब्लिक को किसी तरह की दिक्कत नहीं होनी चाहिए.

-नरसिंह, चीफ पोस्ट मास्टर, कानपुर नगर.

---------------------

शहर में आधार कार्ड न बनने से लोगों को काफी परेशानी हो रही है. मैं खुद आधार अपडेट कराने के लिए कई दिन भटकता रहा.

-पवन त्रिपाठी

आधे से अधिक जगहों पर आधार कार्ड नहीं बन रहा है. यह बेहद गलत बात है. सरकार को इस तरफ ध्यान देना चाहिए.

-अमित सिंह

पोस्ट ऑफिस में भी आधार कार्ड नहीं बन रहे हैं. मुझे अपनी बेटी का आधार अपडेट कराना था, लेकिन नहीं हुआ. इसके बाद ऑनलाइन किया.

-हिमांशु पाल