patna@inext.co.in

PATNA : दीपावली के बाद अचानक से मौसम में बदलाव आ गया है. दिन में जहां गर्मी लग रही है वहीं शाम होते ही ठंडी हवाएं कपा दे रही हैं. बीमारी का यह बड़ा सीजन होता है और आंकड़ों की बात करें तो हर घर में कम से कम दो लोग वायरल की चपेट में है. वायरल इस लिए खतरनाक हो गया है क्योंकि पटना इन दिनों डेंगू की चपेट में है और बुखार होते ही लोग डर जा रहे हैं. डॉक्टरों का कहना है कि इस सीजन में बुखार से घबराने के बजाए जांच और इलाज पर ध्यान देने के साथ खान पान को ठीक किया जाए.

हर घर बन रहा निशाना

पटना के इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में दीपावली के बाद से ओपीडी में पचास प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है. संस्थान के प्रशासनिक विभाग के मुताबिक दीपावली के बाद मौसम में हुए बदलाव के बाद से ही मरीजों की संख्या बढ़ी है. इसमें सबसे अधिक चेस्ट और इंफेक्शन के रोगी हैं.

मौसम का हड्डियों पर दिख रहा असर

मौसम का असर हड्डियों पर तेजी से देखने को मिल रहा है. शनिवार को पटना के बोरिंग रोड स्थित साई हेल्थ केयर एंड वेलनेस सेंटर पर हेल्थ कैंप लगाकर हड्डियों की जांच की गई. डॉ राजीव कुमार सिंह का कहना है कि 100 से अधिक मरीजों की जांच में सबसे अधिक घुटना और स्पाइनल की शिकायत किए. डॉ सिंह का कहना है कि मरीजों ने दीपावली के बाद से समस्या अधिक होने की बात बताई है. उन्हें जागरुक करने के साथ दवाएं व एक्सरसाइज बताई गई है.

मौसम में गर्मी और ठंडी का सामंजस्य नहीं होने के कारण बीमारी बढ़ी है. बच्चों से लेकर वृद्ध मरीजों की संख्या अधिक है. बुखार होने पर घबराएं नहीं जांच कराकर इलाज कराएं.

डॉ राना एसपी सिंह, वरिष्ठ फिजीशियन

दिवाली के बाद हड्डियों में समस्या बढ़ी है. मौसम जब तक पूरी तरह से ठंडा नहीं होता समस्या बनी रहेगी. नियमित एक्सरसाइज व खान पान से हम इस बीमारी वाले मौसम से बच सकते हैं.

डॉ राजीव कुमार सिंह,साई फिजियोथेरेपी