- ट्रांसपोर्ट नगर चौराहे पर सवारी भरने से होती है परेशानी

- लखनऊ व वाराणसी से शहर में आते हैं वाहन

GORAKHPUR: शहर के ट्रांसपोर्ट नगर चौराहे पर आए दिन जाम की समस्या बनी रहती है. जिससे आए दिन यहां पब्लिक को जाम से जूझना पड़ता है. बारिश के मौसम में तो दिक्कत और भी बढ़ गई है. बारिश के बीच महेवा पुलिस बूथ से टीपी नगर चौराहे तक वाहनों का दबाव बढ़ने से थोड़ी ही देर में जाम लग जाता है. हालात ये हो जाते हैं कि सड़क पर पैदल चलना तक मुश्किल हो जाता है. जाम खुलवाने में टै्रफिक पुलिस के पसीने छूट जाते हैं.

ट्रैफिक पुलिस की तरफ से जाम से निपटने के लिए तमाम इंतजाम किए जा रहे हैं लेकिन सब बेअसर साबित हो रहा है. टीपी नगर के रास्ते की बात करें तो यहां दिनभर बड़ी और छोटी गाडि़यों का आवागमन होता रहता है जिससे जाम की समस्या आए दिन बनी रहती है. इस रूट से वाराणसी व लखनऊ से वाहन शहर में आते हैं. मुख्य मार्ग होने के चलते शहर के वाहनों के साथ राहगीरों का भी आना जाना होता है मगर अगर जाम लग गया तो घंटों राहगीरों का जाम में फंसना तय है. बुधवार को भी अचानक टीपी नगर मेन चौराहे पर जाम लग गया. स्कूली वाहन भी जाम में फंस कर जूझते रहे. जाम से छुटकारा दिलाने के लिए ट्रैफिक पुलिस भी जूझती रही. घंटों बाद किसी तरह से जाम के झाम से लोगों को राहत मिल सकी.

यह है प्रमुख समस्या

- चौराहे पर जाम लगने से वाहनों को एक तरफ से रोकना पड़ता है.

- लेन बदलने के लिए पर्यापत व्यवस्था नहीं है.

- चौराहे पर चारों तरफ अतिक्रमण का जाल बिछा हुआ है.

- वाराणसी व लखनऊ रोड पर चलने वाले लोकल टेंपों चौराहों पर खड़े रहते हैं

- चौराहे के आसपास फुटपाथ पर बाजार होने से सड़क पर इनक्रोचमेंट बढ़ जाता है

इस समाधान से बन सकती है बात

- चौराहे के आसपास का अतिक्रमण पूरी तरह से खत्म कराया जाए

- चौराहों के आसापस के स्टैंड को खत्म कराया जाए, वाहनों को खड़ा करने की मनाही हो

- ट्रैफिक पुलिस की संख्या बढ़ाई जाए

वर्जन

टीपी नगर चौराहे पर ट्रैफिक पुलिस की ड्यूटी लगाई जाती है. चौराहे पर लगे कर्मचारी लगातार ट्रैफिक कंट्रोल में मदद करते हैं.

- आदित्य वर्मा, एसपी ट्रैफिक