दैनिक जागरण आई नेक्स्ट टीम ने पहले कर दिया था खुलासा

आर्मी मैन बनकर लेते थे लोगों को विश्वास में

MEERUT : साइबर सेल व नौचंदी पुलिस ने एक ऐसे अंतराज्यीय गैंग का पर्दाफाश करके तीन लोगों को गिरफ्तार किया है जो ओएलएक्स साइट पर आर्मी मेन बनकर कार, मोटर साइकिल, मोबाइल आदि सामान बेचने के नाम पर लोगों से करोड़ों की ठगी करते थे। दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने गत् एक अप्रैल 2019 के अंक में इस गैंग का खुलासा कर दिया था, जिसमें गैंग ने आर्मी मैन बनकर परतापुर के तरूण सिंह से रायल इनफील्ड बेचने के नाम पर एक लाख दस हजार रुपये ठग लिए थे।

दर्ज कराई थी शिकायत

शास्त्री नगर सैक्टर दो निवासी गौरव सैनी ने एसएसपी नितिन तिवारी को शिकायत दर्ज कराई थी कि ओएलएक्स साइट के माध्यम से वेगनआर कार न। यूपी 15- बीएस 6561 का बिक्री हेतू विज्ञापन दिया गया था। जिसमें आर्मी के एसआई नवीन सिंह तोमर के द्वारा को बेचना दिखाया गया था.

हरियाणा का वाजिद

गौरव सैनी ने बताया कि हरियाणा के वाजिद ने अपने आप को आर्मी का एसआई नवीन तोमर बताया। उसने उनसे फर्जी मोबाइल नंबर के सहारे काफी देर तक बात भी की। उसने कार के बेचने के नाम पर 1 लाख 75 हजार 676 रुपये यूपीआई के माध्यम से बनाए गए फर्जी पेटीएम में आनलाइन ट्रांसफर करा लिए है। ठगी के रुपये पेटीएम खातों में डलवा कर उन्हें मर्चेटों के खातों में ट्रांसफर कर उन्हें कमिशन देकर वहां से नकदी प्राप्त कर ली। एसपी क्राइम डॉ। बीपी अशोक ने बताया कि गिरफ्तार हुए तीनों अब तक ओएलक्स साइट के माध्यम से सैकड़ों लोगों से करोड़ों रुपये ठग चुके है। इनके कई बैंकों में खाते भी मिले है। जिसकी अभी जांच की जा रही है। उनके पास से आर्मी की ड्रेस, फर्जी आईडी कार्ड भी मिला है।

यह हुआ गिरफ्तार

1.वाजिद पुत्र शमशुद्दीन उर्फ कंचा निवासी जिला नूहू मेवात हरियाणा

2.मो। शाहजहां पुत्र अब्दुल रज्जाक निवासी जिला नूहू मेवात हरियाणा

3. अकरम पुत्र जाकिर निवासी जिला नूहू मेवात हरियाणा

यह हुई बरामदगी

- 4 मोबाइल फोन

- 1 आधार कार्ड

- 1 ड्राईविंग लाइसेंस

- ठगी के 93 हजार 310 रुपये