लगातार दूसरी बार कटौती
अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गत एक पखवाड़े में आई भारी गिरावट दर्ज की गई है। जिससे वाहन चालकों को थोड़ी राहत महसूस हुई हैं। कल तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल डीजल के दामों की समीक्षा की है। इसके बाद पेट्रोल 50 पैसे तथा डीजल 46 पैसे प्रति लीटर सस्ता कर दिया। सबसे खास बात तो यह है कि पेट्रोल तथा डीजल के दाम में लगातार दूसरी बार कटौती की गई है। ये घटे हुए दाम आज आधी रात से लागू हो गए हैं। जिससे अब देश की राजधानी दिल्ली में वैट समेत पेट्रोल की अब नई कीमत 59.98 रुपये प्रति लीटर हो गई है। वहीं डीजल की नई कीमत 46.09 रुपये प्रति लीटर हो गई है। घटे हुए दामों के पीछे माना जा रहा है कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में ग्यारह साल में पहली बार कच्चा तेल काफी हद तक सस्ता हुआ है। तेल कंपनियों के मुताबिक पिछले 15 दिन में कच्चा तेल करीब 11 फीसदी तक सस्ता हुआ है। हालांकि इन घटे हुए दामों से बाजार विश्लेषकों की उम्‍मीदों पर पानी फिर गया। वे समीक्षा से पहले पेट्रोल में करीब 4 रुपये तक घटने की उम्‍मीद जता रहे थे।

नवंबर के आखिरी हफ्ते
बतातें चलें कि नवंबर महीने के आखिरी हफ्ते में भारतीय बास्केट में कच्चे तेल का औसत दाम 41.17 डॉलर/बैरल था। जो कि इधर करीब 4 दिन पहले और घट गया है। अब यह घटकर 36.65 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। गौरतलब है कि साल 2015 में पेट्रोल डीजल के दामों के काफी उतार चढ़ाव देखने को मिले हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल को अभी कुल 18 महीने हुए हैं। जिसमें सरकार की कमाई पेट्रोल पर 101% और डीजल पर 200% बढ़ी। हालांकि क्रूड ऑयल के दाम काफी हद तक घटे हैं। उनके कार्यकाल में क्रूड ऑयल 57% सस्ता हुआ। भारत सरकार ने अब तक करीब 5 बार पेट्रोल-डीजल पर ड्यूटी बढ़ाई है। गौरतलब है कि सार्वजनिक क्षेत्र की खुदरा तेल कंपनियां हर महीने पहली व 15वीं तारीख को पेट्रोल डीजल के दाम में संशोधन करतीं हैं। जिनमें इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, भारत पेट्रोलियम व हिंदुस्तान पेट्रोलियम जैसी बड़ी ऑयल कंपनियां शामिल हैं।

inextlive from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk