अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें close
शहर चुनें close
LIVE Score
VS
Punjab Chennai

Chennai won by 5 Wickets

बेटी संग संगम पहुंचे एश्वर्या व अभिषेक

Sat 05-Aug-2017 11:35:04
1/13

अस्थि विसर्जन के लिए मोटर वोट पर चढ़ती एश्वर्या राय।

2/13

मोटर वोट से संगम में अस्थि विसर्जन के लिए परिवार के साथ जाते अभिषेक बच्चन व उनकी पत्नी एश्वर्या राय.

3/13

चलते चलते थक चुकी बेटी को गोद में लेकर संगम से लौटती अभिनेत्री एश्वर्या राय.

4/13

बेटी आराध्या व पत्नी एश्वर्या के साथ अभिषेक बच्चन।

5/13

धूप से बचने के लिए सिर दुपट्टा डालती एश्वर्या राय.

6/13

संगम की तरफ निहारते अभिषेक बच्चन व एश्वर्या राय एवं उनकी बेटी।

7/13

बेटी को गोद में लेकर संगम से लौटती एश्वर्या राय।

8/13

अभिनेता अभिषेक बच्चन से वार्ता लाप करते उनके साथ आए लोग।

9/13

बेटी के साथ पीछे-पीछे आ रही पत्नी आश्वर्या राय को मुड़ कर देखते अभिषेक बच्चन।

10/13

संगम से लौटते समय थक चुकी बेटी आराध्या को संभाली एश्वर्या व सुरक्षा के जवानों को मुड़ कर देखते अभिषेक बच्चन।

11/13

बेटी के साथ पत्नी से आराम से आने की बात कहते अभिषेक बच्चन।

12/13

अस्थि विसर्जन के बाद मोटर वोट से उतर रही एश्वर्या की बेटी को संभालते सुरक्षा कर्मी।

13/13

अस्थि विसर्जन के बाद मोटर वोट से उतर रही एश्वर्या की बेटी को संभालते सुरक्षा कर्मी।

About The Gallery

बॉलीवुड की मशहूर जोड़ी अभिषेक बच्चन और ऐश्वर्या राय बच्चन बेटी आराध्या के साथ शनिवार को संगम नोज पहुंचे. उनके साथ ऐश्वर्या राय के परिवार के सदस्य भी थे. वे यहां ऐश्वर्या राय के पिता कृष्णराज राय की अस्थियां विसर्जित करने आए थे. बेहद गोपनीय इस प्रोग्राम की किसी को कानोकान खबर नहीं थी. पुरोहितों का इंतजाम भी वाराणसी से किया गया था. करीब दो घंटे तक दोनो यहां रहे और पूरे विधि विधान से सभी कार्य पूरे कराए. ऐश्वर्या-अभिषेक के साथ उनका परिवार चार्टर्ड विमान से यहां पहुंचा था. विमान बमरौली एयरपोर्ट पर लैंड हुआ और फिर पूरा परिवार निजी वाहन से सीधे बोट क्लब पहुंचा. यहां उनके लिए मोटरबोट का इंतजाम था. यहां से सभी संगम तट पर पहुंचे. तीर्थ पुरोहित प्रमोद मिश्रा ने बताया कि मैंने जोर से आवाज लगाई 'बाहर आइए, बाहर आइए बच्चन जीÓ, तो वहां मौजूद लोग आश्चर्यचकित रह गए. अभिषेक बच्चन बाहर नहीं आए सिर्फ हाथ जोड़कर पुरोहितों का अभिवादन स्वीकार किया. एक स्टीमर पर पूरा परिवार और दूसरे पर पुलिस अधिकारी मौजूद थे. उन्होंने बताया कि अस्थियां विसर्जित करने के दौरान जब पुरोहितों ने अभिषेक को आवाज दी तो उनके मैनेजर बाहर निकले. मैनेजर ने पूछा कि आप कितने लोग हैं? 11 लोग बताने पर उन्होंने साढ़े पांच हजार रुपया दक्षिणा दी. उसके बाद सभी वहां से निकल गए.