अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें close
शहर चुनें close

Flooding in the third division pass

Mon 12-Mar-2018 12:13:25
1/10

गोद में बच्चों को लेकर घूंघट में मतदान के लिए जाती महिलाएं.

2/10

कड़ी सुरक्षा के बीच वोट डालने जाती महिला व युवती.

3/10

वोटर लिस्ट में अपना नाम खोजती महिलाएं.

4/10

मतदान करने बूथ पर पहुंची महिलाएं.

5/10

वोट डाल कर बूथ से बाहर आने के बाद अंगुली में लगी स्याही दिखाती महिला.

6/10

चुनाव का जायजा लेने के लिए दिन भर घूमते रहे अफसर.

7/10

मतदान केंद्र पर सुरक्षा का जायजा लेते पुलिस अधिकारी.

8/10

मतदान करने के लिए जाती महिलाएं.

9/10

बूथ पर मतदान करने के लिए कतार में खड़े वोटर्स.

10/10

बच्चों के साथ बूथ पर मतदान के लिए पहुंची महिलाएं.

About The Gallery

तमाम उपायों और कवायदों के बावजूद फूलपुर उपचुनाव में वोटिंग 38 परसेंट पर सिमट गई. रविवार को हुई वोटिंग के दौरान मतदाताओं को बूथ तक लाने की शासन व प्रशासन की तमाम कोशिशें फ्लाप साबित हुईं. वोटर्स घर से नहीं निकले. पोलिंग बूथों पर सन्नाटा पसरा रहा. हालांकि, जिले में एक भी हिंसक घटना की सूचना नहीं रही और चुनाव शांतिपूर्ण रहा. कहीं-कहीं ईवीएम खराब होने की जरूर जानकारी मिलती रही. प्रशासन को उम्मीद थी कि मतदान के दिन लोग घर से निकलकर बूथ पर पहुंचेंगे. लेकिन ऐसा नहीे हुआ. जिसकी तस्दीक वोटिंग अपडेट से होती रही. सुबह सात से शाम पांच बजे तक एक बार भी वोटिंग गति नहीं पकड़ सकी. शहर से लेकर गांव तक यही हाल रहा. मतदान रफ्तार नहीं पकडऩे से प्रशासनिक अधिकारियों समेत राजनीतिक दलों के नेता व प्रतिनिधियों के चेहरे भी लटके रहे.