अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें close
शहर चुनें close

याद रहेगा नीरज का कारवां

Tue 24-Jul-2018 11:24:50
1/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

2/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

3/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

4/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

5/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

6/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

7/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

8/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

9/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

10/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

11/11

जब चले जाएंगे हम लौट के सावन की तरह, याद आएंगे पहले प्यार के चुंबन की तरह... अपनी कुछ ऐसी ही कविताओं से हर किसी के दिल पर राज करने वाले पद्म भूषण गोपालदास नीरज को अंतिम विदाई देने पूरा शहर उमड़ पड़ा. शनिवार को क्या आम और क्या खास, हर कोई उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनसे जुड़े संस्मरणों को याद करते रहा.

About The Gallery

याद रहेगा नीरज का कारवां

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK