वेस्ट प्लास्टिक, स्टोन, डस्ट और कलर से बनी है रंग-बिरंगी टाइल्स

Meerut. प्लास्टिक से पर्यावरण को बचाने के लिए कैंट बोर्ड के इंजीनियर्स ने एक नया रास्ता खोज निकाला है. जिसके तहत पॉलिथीन, स्टोन, डस्ट और कलर से रंग-बिरंगी इंटरलॉकिंग टाइल्स तैयार की गई हैं.

स्वच्छ कैंट की कवायद

सबसे स्वच्छ कैंट बनाने की कवायद में जुटे शहर के कैंट बोर्ड के इंजीनियर्स ने वेस्ट पॉलिथिन के साथ स्टोन, डस्ट और कलर मिक्स करके इंटरलॉकिंग टाइल्स तैयार की हैं. इन्हें बनाने में सीमेंट की जरूरत नहीं पड़ती, जिससे लगात बेहद कम हो जाती है. फिलहाल टाइल्स की लैब में टेस्टिंग की जा रही है. जिसके बाद इन्हें इस्तेमाल में लाया जाएगा.

200 पॉलिथिन से एक टाइल

एई पीषूय गौतम ने बताया कि पॉलिथिन और अन्य वेस्ट से इंटरलॉकिंग टाइल्स तैयार की गई हैं. टाइल्स बनाने के लिए प्लॉस्टिक को 85 डिग्री तक गर्म करके उसमें स्टोन, डस्ट और कलर मिलाया गया. जिसके बाद तैयार हुई इंटरलॉकिंग टाइल्स बेहद मजबूत हैं. हालांकि अभी यह प्रयोग है और इसकी जांच हो रही है. सब ठीक रहता है तो कैंट क्षेत्र में पॉलिथिन एकत्र करने का अभियान चलाकर टाइल्स तैयार कर गलियों में लगाई जाएं.

इंटरलॉकिंग टाइल्स से पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा. साथ ही कैंट क्षेत्र में पॉलिथिन वाले कचरे की समस्या का निस्तारण भी हो जाएगा.

अनुज सिंह, सीईई, कैंट बोर्ड