कांग्रेस ने उठाए सवाल
इसकी जानकारी उन्होंने शुक्रवार को ट्वीट कर दी। उन्होंने बताया कि वह आज काबुल से सीधे लाहौर के लिए रवाना होंगे और लाहौर में मोदी नवाज शरीफ से मुलाकात करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी और नवाज शरीफ की मुलाकात पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट करके कहा कि पड़ोसी से ऐसे ही संबंध होने चाहिए। वहीं कांग्रेस ने पीएम मोदी और नवाज शरीफ की मुलाकात पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि क्या भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध इतने अच्छे हो गए हैं कि प्रधानमंत्री बिना देश को भरोसे में लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री से मुलाकात कर रहे हैं।

पहल की सराहना जरूरी

वही भाजपा ने भी कांग्रेस के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि पाकिस्तान के साथ बेहतर संबंध इस क्षेत्र के हित में है साथ ही भारत पाकिस्तान के साथ अपनी बातचीत में अपनी चिंताओं को भी उठाता रहा है। भाजपा ने ये भी कहा कि अगर शांति के लिए दो देश आपस में संबंध बनाने की कोशिश करते हैं तो ना सिर्फ दोनों देशों को बल्कि पूरे क्षेत्र को इस पहल की सराहना करनी चाहिए। आपको बता दें कि आज पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ का जन्मदिन भी है। पीएम मोदी ने आज सुबह ही ट्वीट कर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को जन्मदिन की बधाई दी और उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की थी।

मुस्लिम लीग के वरिष्ठ नेता
नवाज शरीफ का जन्म 25 दिसंबर, 1949 को लाहौर में हुआ था। नवाज शरीफ पाकिस्तान मुस्लिम लीग के वरिष्ठ नेता हैं। शरीफ को वर्ष 2000 में तत्कालीन सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ ने सत्ता से बेदखल कर दिया और उनकी सरकार को बर्खास्त कर दिया था। तख्तापलट के बाद पाकिस्तान एन्टीटेरेरिज्म कोर्ट ने नवाज़ शरीफ को भ्रष्टाचार के जुर्म में दोषी करार दिया था। सऊदी अरब की मध्यस्थता के बाद शरीफ को सऊदी अरब के जेद्दा में निर्वासित कर दिया था।

inextlive from India News Desk

National News inextlive from India News Desk