- आजमगढ़ में शनिवार को पूवरंचल एक्सप्रेस वे का पीएम करेंगे शिलान्यास

- वाराणसी को भी 900 करोड़ रुपये की योजनाओ की देंगे सौगात

- मिर्जापुर भी जाएंगे पीएम, मेडिकल कॉलेज की रखेंगे नींव

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को आजमगढ़ में देश के सबसे लंबे एक्सप्रेस वे का शिलान्यास करेंगे. लखनऊ से गाजीपुर तक जाने वाले 341 किमी लंबे पूर्वाचल एक्सप्रेस वे के शिलान्यास के अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे के अलावा तमाम मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता मौजूद रहेंगे. इसके बाद प्रधानमंत्री वाराणसी जाकर करीब 900 करोड़ रुपये की योजनाओं की सौगात देंगे. तत्पश्चात वह मिर्जापुर में भी कुछ योजनाओं का शुभारंभ करेंगे.

छिन जाएगा तमगा

ध्यान रहे कि इससे पहले सपा सरकार में आगरा से लखनऊ तक 302 किमी लंबा एक्सप्रेस वे बनाया गया था जो देश में सबसे अधिक दूरी की सड़क साबित हुई थी. अब पूर्वाचल एक्सप्रेस वे बनने के बाद उससे यह तमगा छिन जाएगा. सब ठीक रहा तो यह एक्सप्रेस वे पूर्वांचल की तरक्की की नई इबारत लिखने में कामयाब होगा क्योंकि राज्य सरकार इसके दोनों किनारों पर बड़ी तादाद में उद्योग स्थापित करने पर काम कर रही है. इसके अलावा इसके जरिए दिल्ली से गाजीपुर तक जाना भी आसान होगा जो पर्यटन की दृष्टि से भी बेहतर साबित होगा. इसी वजह से एक्सप्रेस वे के शिलान्यास के साथ महत्वपूर्ण शहरों को जोड़ने वाले लिंक एक्सपे्रस वे की घोषणा भी पीएम द्वारा की जाएगी.

बनारस को मिलेगी सौगात

तत्पश्चात पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 900 करोड़ की परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे. इनमें वाराणसी सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन प्रोजेक्ट, वाराणसी-बलिया ईएमयू ट्रेन शामिल है. इसके अलावा वे पंचकोसी परिक्रमा मार्ग का शिलान्यास करने के साथ स्मार्ट सिटी और नमामि गंगे प्रोजेक्ट का भी शुभारंभ करेंगे. तत्पश्चात उनका वाराणसी में इंटरनेशनल कंवेंशन सेंटर का शिलान्यास करने का कार्यक्रम है. वहीं वाराणसी में बीते चार सालों में हुए विकास कार्यो को समेटने वाली पुस्तक 'मेरी काशी' का विमोचन कार्यक्रम होगा. इसके अगले दिन पीएम मिर्जापुर जाकर बाणसागर नहर परियोजना राष्ट्र को समर्पित करेंगे और मेडिकल कॉलेज की नींव रखेंगे.