-पीएम के आगमन को लेकर पूरे गांव में हो रहा रंगरोगन, बह रही है स्वच्छता अभियान की गंगा

-काशी वासियों को प्रधानमंत्री देंगे ढाई हजार करोड़ का दिवाली गिफ्ट

दिवाली भले ही मन गई है लेकिन हरहुआ ब्लाक के वाजिदपुर वासियों की असली दीपावली तो 12 नवंबर को ही मनने वाली है. पूरे गांव में रंगरोगन कार्य को अंतिम टच दिया जा रहा है. जिस गांव में सफाईकर्मियों का कभी आना जाना नहीं हुआ था, वहां आज स्वच्छता अभियान की गंगा-यमुना बह रही है. गांव की दरों-दीवारों पर स्वच्छता अभियान को सार्थक करते हुए डेढ़ सौ से अधिक स्लोगन लिखे जा रहे हैं. गांव वालों में इस बात की खुशी है कि पहली बार देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वाजिदपुर गांव में आना होगा. प्रधानमंत्री को करीब से देखना व सुनना ही ग्रामीणों के लिए दिवाली जैसा फील दे रहा है. काशी वासियों को ढाई हजार करोड़ का दिवाली गिफ्ट देने आ रहे पीएम मोदी वाजिदपुर में सभा को संबोधित करेंगे. लिहाजा गांव को दुल्हन की तरह सजाया और संवारा जा रहा है.

गांव में दौड़ी विकास की गाड़ी

रिंग रोड के फ‌र्स्ट फेज के शुभारंभ के मौके पर वाजिदपुर में सभास्थल के आसपास के मकानों की दीवारों को सरकारी खर्च से रंग-पेंट कराया जा रहा है. सभास्थल से पास और दूर तक दिखने वाले सभी मकानों को आकर्षक तरीके से सजाया जा रहा है. गृहस्वामी भी खुश हैं कि बिना एक पैसा लगे मकान में रंगाई-पुताई हो रही है. मेन सड़क से गांव की ओर आने वाली पगडंडियों पर ईट-पत्थर बिछाकर रास्ते को चौड़ीकरण किया जा रहा है. एक साथ सौ से अधिक सफाई कर्मियों की टोली गांव को चमकाने में लगी हुई है.

हाइटेंशन पोल होंगे तिरंगा लुक में

सभास्थल के करीब में लगे हाईटेंशन पोल को भी आकर्षक दिखाने के लिए तैयारी शुरू है. रास्ते में पड़ने वाले एक हाईटेंशन पोल को भी सुरक्षा की दृष्टि से हटा दिया गया है. बाकी अन्य जो कुछ दूरी पर हैं उन हाईटेंशन पोल को कपड़े से कवर किया जाएगा. लुक तिरंगा जैसा देने पर सहमति बनी है. तैयारियों का जायजा लेने शनिवार को यहां पहुंचे भाजपा काशी के सह प्रभारी सुनील ओझा व राज्यमंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने कुछ सुझाव भी दिए. साथ में काशी प्रांत के अध्यक्ष महेशचंद्र श्रीवास्तव, विधायक कैंट सौरभ श्रीवास्तव, काशी के महामंत्री अशोक चौरसिया, वरिष्ठ नेता अजय सिंह और नीलमणि तिवारी आदि भी रहे.

बिना एक पैसा लगे मकान की रंगाई पुताई हो रही है. गांव में साफ-सफाई भी हो रही है. खुशी इस बात की है कि घर के सामने मोदी जी को देखने का सौभाग्य मिलेगा.

मंजू देवी, वाजिदपुर

जिस तरह दिवाली में साफ-सफाई और रंगाई-पुताई होती है, ठीक उसी तरह पीएम के आगमन पर हो रही है. हमारी दीपावली तो 12 को ही मनेगी.

मोहनलाल, वाजिदपुर

गांव में कभी भी सफाई कर्मी नहीं आए थे, अब तो सुबह-शाम झाड़ू लग रहा है. कच्चे रास्तों को पक्का किया जा रहा है. गांव में उत्सव जैसा माहौल है.

कैलाश कुमार, वाजिदपुर

देश के पीएम हमारे गांव में होंगे. उन्हें देखने और सुनने का सौभाग्य हम सभी को मिलेगा. कोशिश है कि पीएम के स्वागत में कोई कमी न रह जाए.

लालमन, ग्राम प्रधान वाजिदपुर

इसलिए चुना गया 'वाजिदपुर'

हरहुआ ब्लाक के वाजिदपुर को सभास्थल के लिए चुनने के पीछे भी बड़ी वजह है. 80 हजार से अधिक भीड़ जब सभास्थल पर उमड़ेगी तो पीएम के मंच के सामने रिंग रोड दिखेगा तो वहीं दाहिनी ओर से शिवपुर-बाबतपुर फोरलेन व ओवरब्रिज भी साफ दिखेगा. काशी में विकास की गाथा खुद सभास्थल बताएगा.