माह के अंत तक प्रदेश के किसी शहर का कर सकते हैं दौरा

शासन स्तर पर तैयारियां हुई तेज, डीएम के निर्देशन में चिह्नित हो रहीं साइट्स

Meerut. प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) की प्रगति रिपोर्ट को खंगालने के लिए पीएम मोदी खुद यूपी आकर जुलाई अंत तक सूबे के किसी भी शहर में आ सकते हैं. फिलहाल सरकार के लिए टॉप प्राथमिकता में शामिल प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए लगातार बैठकों का दौर जारी है. मंगलवार को भी नि:शुल्क भूमि मुहैया कराने के लिए प्राधिकरण के अधिकारियों ने डीएम से मुलाकात की. एमडीए उपाध्यक्ष साहब सिंह ने बताया कि 10 हजार प्रधानमंत्री आवास एमडीए 2021 तक बनाएगा. इसको लेकर जिला प्रशासन के सहयोग से जमीन की तलाश की जा रही है. प्रथम चरण में 1088 आवास के निर्माण के लिए विभिन्न साइट्स पर काम शुरू हो गया है.

परतापुर में तलाशी जमीन

डीएम अनिल ढींगरा से मंगलवार को मुलाकात के दौरान एमडीए सचिव राजकुमार ने कहा कि शहर सीमा में करीब 10 हजार प्रधानमंत्री आवास प्राधिकरण को बनाने हैं. जबकि प्राधिकरण के पास महज 1088 आवासों के निर्माण के लिए जमीन उपलब्ध है. ऐसे में विभिन्न विभागों की जमीन को जिला प्रशासन के माध्यम से एमडीए को सौंपा जाना है. एसडीएम निशा अनंत ने सदर तहसील में करीब 4 हजार वर्ग मीटर जमीन की तलाश की है. डीएम ने एमडीए के समक्ष शर्त रखी है कि वे प्रमाण-पत्र देंगे कि उनके (एमडीए) पास जमीन नहीं है तभी उन्हें नि:शुल्क भूमि मुहैया कराई जाएगी.

2021 तक 10 हजार आवास

वित्तीय वर्ष निर्धारित लक्ष्य

2017-18 2000

2018-19 3000

2019-20 4000

2020-21 1000

प्रस्तावित निर्माण

योजना क्षेत्रफल (वर्ग मीटर) भवनों की संख्या

शताब्दीनगर योजना सेक्टर 1 12879 384

लोहियानगर योजना 3828 128

सराय काजी, गढ़ रोड 18100 576

कुल 34807 1088

32 वर्ग मीटर- प्रति आवास भूमि का क्षेत्रफल

312 आवास- प्रति हेक्टेयर भूमि में संभावित निर्माण

10 हजार- कुल आवास

1088- निर्माणाधीन आवास

8912- शेष आवास

28.52 हेक्टेयर- प्रस्तावित आवश्यक भूमि