JAMSHEDPUR: जमशेदपुर पुलिस को सोमवार को एक बड़ी सफलता मिली. पुलिस ने जामताड़ा निवासी सह स्वर्णरेखा परियोजना में जूनियर इंजीनियर पद पर तैनात साइबर क्रिमिनल उज्ज्वल कुमार दास को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस पूछताछ में उज्ज्वल दास ने जामताड़ा में रहनेवाले साथी प्रभाकर दास, राजेश दास, लक्ष्मण दास, अंकित उर्फ बंटी, आला उर्फ प्रकाश एवं तपन दास का नाम बताया है. एसएसपी अनूप बिरथरे ने बताया नामों की सूचना मिलते ही जामताड़ा पुलिस से संपर्क किया गया है जिससे तीन अन्य अपराधी प्रभाकर दास, अंकित दास व एक अन्य को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. एसएसपी ने बताया कि तीनों आरोपियों को जमशेदपुर लाकर पूछताछ की जाएगी.

पुलिस को मिली थी सूचना

एसएसपी ने बताया कि मानगो पुलिस को चार अगस्त को सूचना मिली बिग बजार में साइबर अपराधी ठगी का पैसे से खरीददारी कर रहा है. एक दिन पहले उज्ज्वल दास बिग बाजार से खरीदारी की थी. उसने बिल का भुगतान फ्यूचर पे वालैट से किया था. बिग बाजार प्रबंधन को फ्यूचर पे से सूचना मिली थी कि उक्त पैसा वीरभूम से ठगी कर लाया गया है. सूचना मिलते ही एसएसपी ने डीएसपी मुख्यालय प्रथम के नेतृतव में एक टीम को गठित कर बिग बाजार में खरीदारी कर रहे उज्ज्वल दास को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में उसने बताया कि उसके पास 90 हजार रुपये आए. तीन अगस्त को 25 हजार रुपये की खरीदारी की. इसके अगले दिन चार अगस्त को आरोपित की गिरफ्तारी हुई. आरोपित के खिलाफ मानगो थाना के दारोगा सुधीर प्रसाद सिंह के बयान पर मामला दर्ज कराया गया है. सोमवार को पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया.

चालियामा में पदस्थापित

साइबर क्राइम के आरोप में गिरफ्तार उज्जवल कुमार दास ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह 2013 से स्वर्णरेखा परियोजना में जूनियर इंजीनियर के पद पर चालियामा में पदस्थापित है. उसने बताया कि जामताड़ा में मेरे दोस्त व परिवार के अन्य लोग साइबर क्राइम के धंधे से जुड़े हैं. उसने बताया कि सभी दोस्त मोबाइल के माध्यम से एक दूसरे के साथ जुड़े हुए हैं. सभी के मोबाइल में फ्यूचर पे तथा अन्य मोबाइल वालैट अपलोड हैं. बताया कि मेरे गैंग के आदमी ठगी कर वालैट में पैसा डालते हैं. इसका फ्यूचर पे का यूजर आईडी और पासवर्ड गैंग के आदमी प्रभाकर दास, राजेश दास, लक्ष्मण दास, अंकित उर्फ बंटी, आजा उर्फ प्रकाश तथा तपन दास के द्वारा भेजा जाता है. जिससे बिग बाजार व अन्य स्थानों पर खरीदारी करते हैं. उसने बताया कि तीन अगस्त को बिग बाजार में जिस वालैट से खरीदारी कर रहा था उसे प्रभाकर दास ने भेजा है.

दो करोड़ का डीजे

जमशेदपुर के एसएसपी अनूप बिरथरे को पूछताछ में उज्ज्वल दास ने बताया कि ठगी के पैसे से गिरोह के सदस्य नारायणपुर में करीब दो करोड़ रुपये खर्च कर गंगा डीजे चला रहे हैं. एसएसपी ने बताया कि उज्ज्वल के दो खाते का पता चला है. उसका डिटेल्स निकाला जा रहा है, ताकि पता चल सके साइबर अपराध कर कितने रुपये अर्जित किए हैं.