फर्जी दस्तावेजों से एपेक्स इंटरनेशनल कंपनी बनाकर 10 हजार लोगों को ठगा

एसएसपी ने की प्रेसवार्ता, सभागार से बाहर निकलते ही आरोपियों पर टूट पड़े पीडि़त

Meerut. मोती की माला बनवाने और कंपनी की फ्रेंचाइजी देने के नाम पर 10 हजार लोगों से करोड़ों रूपये ठगने के आरोपियों को देखते ही पीडि़त कारोबारियों ने हाथापाई शुरू कर दी. पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद आरोपियों को वहां से निकाला. ठगी के मामले में दो दिन से नौचंदी थानाक्षेत्र में चल रहे बवाल के बाद शनिवार को पुलिस ने फर्जी कंपनी के एमडी समेत अन्य को गिरफ्तार कर लिया.

बनाई थी फर्जी कंपनी

पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता के दौरान एसएसपी राजेश कुमार पांडेय ने बताया कि गाजियाबाद के बृजविहार निवासी राजेश प्रसाद शर्मा एपेक्स इंटरनेशनल का मालिक है. उसकी मुलाकात मुरादाबाद निवासी राहुल वर्मा उर्फ राहुल चौधरी से हुई. दोनों ने एपेक्स इंटरनेशनल के नाम से कंपनी खोलकर ठगी की योजना बनाई. उसने फर्जी आइडी से कंपनी रजिस्टर्ड कराईं.

मेरठ में खोला ऑफिस

आरोपियों ने गढ़ रोड पर राजा-रानी मंडप के पास कंपनी का ऑफिस खोला. पंपलेट आदि के जरिए आरोपियों ने पब्लिक को घर बैठे मोटी कमाई का झांसा देकर लोगों से फ्रेंचाइजी के नाम पर दो करोड़ रूपये इकट्ठा कर गत 6 मई को ऑफिस बंद कर दिया. पीडि़तों ने 7 मई को नौचंदी थाने में हंगामा किया, जिसके बाद मुकदमा दर्ज हुआ.

ऐसे करते थे ठगी

सदस्य बनने के नाम पर 1500 तो फ्रेंचाइजी के नाम पर लेते थे एक लाख.

फ्रेंचाइजी को 300 सदस्य (मजदूर) जोड़ने की लिमिट थी.

कंपनी के साथ 10 हजार सदस्य जुड़ चुके थे.

मेरठ में करीब 20 लोगों को फ्रेंचाइजी दी गई.