agra@inext.co.in
AGRA. फर्जी आईआरएस की मंगेतर भी फर्जी आईएएस निकली. पुलिस उससे पूछताछ करने पहुंची तो शातिर की मंगेतर ने एसएसपी को फोन लगा दिया. खुद को आईएएस अफसर बताते हुए पुलिसकर्मियों पर परेशान करने का आरोप लगाया. लेकिन उसका हथकंडा काम नहीं आया. पुलिस ने होने वाले पति के साथ उसे भी जेल की हवा खिला दी.

प्रेसवार्ता में खोला मामला
एसपी सिटी प्रशांत वर्मा ने सोमवार को पुलिस लाइन में पे्रसवार्ता कर मामले का खुलासा किया. पुलिस ने फर्जी आईआरएस मितेश कुमार उर्फ गुड्डू पुत्र अक्षय सिंह निवासी ब्यूटी खुर्द, कोतवाली, मैनपुरी हाल निवासी नगला पदी, न्यू आगरा के साथ एलोरा एन्क्लेव, दयालबाग निवासी उसकी मंगेतर अंशुल गुप्ता पुत्री प्रमोद गुप्ता को भी पकड़ा है. अंशुल के पिता कस्टम विभाग से सेवानिवृत्त बताए गए हैं. जिस दौरान पुलिस ने मितेश को पकड़ा, वहां पर उसकी मंगेतर भी थी. उसने खुद को आईएएस अफसर बताकर पुलिस को हड़का दिया. एक बार को तो पुलिस उसकी आवाज से ही कांप गई, लेकिन पुलिस ने फर्जी आईआरएस को पकड़ा तो मंगेतर की बात पर भी विश्वास नहीं हुआ. मंगेतर ने पुलिस के न मानने पर सीधे एसएसपी को कॉल कर दिया. उनसे बोला कि वह आईएएस बात कर रही है. पुलिसकर्मियों द्वारा परेशान करने की शिकायत की. इस पर एसएसपी ने मौजूद पुलिसकर्मियों से जांच करने की बात की, लेकिन इसके बाद भी फर्जी आईएएस ने कई बार एसएसपी को कॉल कर झांसे में लेने का प्रयास किया. पुलिस को फर्जी आईएएस के मोबाइल से संघ लोक सेवा आयोग के पास खड़े हुए फोटो मिले हैं. साथ ही मोहर के भी फोटों हैं.