agra@inext.co.in
AGRA : थाना एत्मादउद्दौला पुलिस ने ऐसे गैंग को बंदी बनाया है जो दिन में ओल कैब से लोगों को छोड़ने का काम करता है और रात में घर पहुंचाने के बहाने लोगों को सूनसान इलाके में लूट लेता है. बंदी बनाए गए लुटेरे छात्र हैं. पुलिस ने इनके पास से नगदी ज्वैलरी बरामद की है.

इन लोगों को पुलिस ने पकड़ा
पुलिस के मुताबिक पकड़े गए बदमाशों के नाम नितिन कश्यप पुत्र ओम प्रकाश कश्यप निवासी एत्मादउद्दौला, मूल निवासी गौरखपुर, राकेश देशवाल पुत्र वीरेंद्र सिंह, विपिन उर्फ दुर्गेश सिंह पुत्र महेंद्र सिंह निवासी एत्मादउद्दौला, फाउंड्री नगर व फरार आरोपी राहुल जादौन पुत्र प्रशांत निवासी फाउंड्री नगर बताए गए हैं. पुलिस ने इनके पास से दो अंगूठी, एक मोबाइल, हजार रुपये, चोरी हा ऑटो तमंचा बरामद किया है.

दिन में चलाते हैं ओला
सीओ छत्ता रीतेश सिंह ने पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि राकेश के बैगनार कार है. उसने ओला से कार रजिस्टर्ड करवा रखी है. चारों युवक आपस में दोस्त हैं. दिन में राकेश ओला बुक होने पर सवारी छोड़ने जाता है. रात में वह सवारी गाड़ी की तरह उसका यूज करते हैं.

दूर की सवारी बैठाते हैं
पुलिस के मुताबिक रात में राकेश अपनी गाड़ी को आईएसबीटी, रेलवे स्टेशन आदि जगह पर खड़ा करता था. वहां से एत्मादपुर, मथुरा व अन्य दूर स्थानों की सवारी को बैठाता है. रास्ते में अन्य साथी सवारी के रूप में कार में बैठते थे. इसके बाद सिटी से निकलने के बाद आउटर पर कार रोक सवारी को तमंचे के बल पर धमका कर लूट लेते हैं.

नहीं पूरा हो सकेगा इंजिनियरिंग का सपना
हाई स्कूल पास नितिन गैंग का सरगना है. राकेश ने इंटर की पढ़ाई की है. विपिन बीएससी मैथ द्वितीय वर्ष का छात्र है. विपिन का कहना था कि वह इंजिनियर बनना चाहता है. लेकिन गलत संगति में जाने से लुटेरा बन गया. अब उसका कैरियर चौपट हो गया. पुलिस के मुताबिक पकड़े गए लुटेरे बालिग हैं.