नशीला पदार्थ देकर या बातों में फंसा कर लूटते थे

कई वारदातों का हो सकता है खुलासा, पुलिस अन्य की तलाश में जुटी

आगरा. फीरोजाबाद रोड पर कार में बैठा कर यात्रियों को लूटने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. पुलिस भी बदमाशों की सरगर्मी से तलाश में जुटी थी. बुधवार को एत्मादपुर पुलिस ने चेकिंग के दौरान लिफाफा गैंग के तीन सदस्यों को कार के साथ पकड़ा है जो यात्रियों को कार में बैठा कर लूट लेते हैं.

इन लोगों को पुलिस ने पकड़ा

एसपी ग्रामीण डॉ. अखिलेश नरायण के मुताबिक पकड़े गए शातिरों के नाम इंसार पुत्र महमूद अली, अंसार पुत्र छंगे, नौशाद पुत्र महमूद अली निवासीगण फीरोजाबाद बताए गए हैं. पुलिस ने इनके पास से 1 किग्रा. चरस व एक सिल्वर कलर इंडिका कार बरामद की है.

इस तरह करते हैं वारदात

पुलिस के मुताबिक पकड़े गए शातिर नेशनल हाईवे पर यात्रियों को लूटने वाले लिफाफा गिरोह के सदस्य हैं. आगरा से लेकर कानपुर तक ये लोग वारदातों को अंजाम देते हैं. आम तौर पर ये लोग 4 से 5 की संख्या में चलते हैं. आगरा से घटना की शुरुआत करते हैं. ऐसे यात्रियों को देख लेते हैं जिसके पास नगदी, कीमती सामान और ज्वैलरी मिलने की सम्भवना हो.

बैठा कर लूट लेते हैं

शातिर उसे कम किराए में इंडिका में बैठा लेते हैं. यात्री की जेब काट कर रास्ते में उतर जाते हैं. यात्री को बातों में उलझा लेते हैं जिससे उसे कुछ पता नहीं चलता. जेब काटने में सफल न होने पर मंगढ़त कहानी बना कर अपनी जेब के रुपये निकाल कर लिफाफे में रख लेते हैं, यात्री से भी रुपये लिफाफे में रखवा लेते हैं. इसके बाद रुपये लेकर भाग जाते हैं.

बदल देते हैं कार

पकड़े जाने के डर से ये शातिर कार बदल-बदल कर वारदात करते हैं. ये लोग आगरा, फीरोजाबाद, शिकोहाबाद, इटावा, औरैया, आदि स्थानों पर घटना को अंजाम देते हैं. इन स्थानों से इनका आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है. इनके द्वारा की गई वारदातों के बारे में भी पता किया जा रहा है. शातिर गैंग को पकड़ने वाली पुलिस टीम में एसआई विजय कुमार, कॉस्टेबल हरेंद्र सिंह, सौरभ कुमार, शम्भू, दिनेश कुमार हैं.