- थाना एत्माद्उद्दौला पुलिस ने दबोचे शातिर, लूट का मोबाइल बरामद

आगरा. बीएससी का स्टूडेंट था. बच्चाें को भी ट्यूशन देता था, लेकिन गर्लफ्रेंड व शराब के शौक ने उसे लुटेरा बना दिया. बकरा उठाने से अपराध की दुनिया में शुरू हुआ उसका सफर मोबाइल लूट तक पहुंच गया. थाना एत्माद्उद्दौला पुलिस ने ऐसे ही युवक को उसके साथी संग दबोचा. उनसे लूट का माल बरामद किया.

पढ़ने के साथ करता था ट्यूशन

सीओ छत्ता रीतेश सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि पुलिस ने रात में ट्रांसयमुना कॉलोनी तिराहा से दो लुटेरों को पकड़ा. पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया आरोपी जयप्रकाश आवलखेड़ा में बीएससी का छात्र है. इसके अलावा वह बच्चों को इंग्लिश व बायोलॉजी का ट्यूशन भी पढ़ाता है. इस तरह वह 15 से 20 हजार रुपया महीना कमाता था.

ऐसे शुरू की मोबाइल लूट

पुलिस के मुताबिक जयप्रकाश पहले अपने साथी सलमान के साथ बकरा चोरी करता था. बकरा चोरी कर शातिर फीरोजाबाद में बेचते थे. एक बार बकरा चोरी करने के दौरान पुलिस ने दौड़ा दिया. इसके बाद शातिरों ने बकरा चोरी करना छोड़ मोबाइल लूटना शुरू किया.

बाहरी लोगों को बनाते थे शिकार

पुलिस के मुताबिक शातिर सिटी के लोगों के मोबाइल न लूट कर बाहरी लोगों को शिकार बनाते थे. जिससे वह मुकदमा दर्ज न करा कर गुमशुदगी दर्ज करा दे. बाईपास पर बाइक पर मोबाइल से बात करते हुए जाते लोग शातिरों के लिए सॉफ्ट टारगेट रहते थे.

शराब और गर्लफ्रेंड ने बनाया लुटेरा

पुलिस के मुताबिक जय प्रकाश शराब का शौकीन है साथ ही उसकी गर्लफ्रेंड है. वह उसे दिल्ली गेट स्थित रेस्टोरेंट, होटल में डिनर कराता था. साथ ही लॉन्ग ड्राइव पर ले जाता था. इससे उसका खर्चा अधिक था. खर्चा पूरा करने के लिए वह लुटेरा बन गया. शातिरों को पकड़ने वाली पुलिस टीम में इंस्पेक्टर कमलेश सिंह, एसआई सोनू राणा, कॉन्स्टेबल आशीष तिवारी, अमन कुमार, मो. कयूम, सत्यपाल, दुर्गेश कुमार शामिल रहे.

दबोचे गए शातिर

जय प्रकाश उर्फ जय कुमार पुत्र गजाधर सिंह निवासी नगला नेहरा, जलेसर रोड, खंदौली

बशुरुद्दीन उर्फ सलमान उर्फ फटे पुत्र लोटन सिंह निवासी पटपरी

बरामद सामान

एक अपाचे बाइक

सात लूट के मोबाइल

कैश 5350