-महिला ने पिता के दोस्त व उसके दामाद पर लगाया लैब्रेडोर हड़पने का आरोप

-कुत्ता न मिलने से बेटी के बीमार होने की दी दलील, एडीजी से की शिकायत

-पुलिस मामले में लीगल ओपिनियन लेने की तैयारी में

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

पीजीआई पुलिस इन दिनों एक कुत्ते के मालिक का पता लगाने में हलकान है. मामला यूं है कि एक महिला को उसके पिता ने लैब्रेडोर कुत्ता गिफ्ट किया. गुड़गांव में रहने की वजह से वह कुत्ता नहीं ले जा सकी. किडनी पेशेंट पिता ने कुत्ते को देखभाल के लिये अपने दोस्त को सौंप दिया. आरोप है कि जब महिला ने कुत्ता वापस मांगा तो पिता के दोस्त व उसके दामाद ने इंकार कर दिया. महिला ने पुलिस से शिकायत की तो उसे धमकियां मिलने लगीं. परेशान महिला ने एडीजी लखनऊ जोन से शिकायत की. जिसके बाद पीजीआई पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर इंक्वायरी शुरू कर दी है.

देखरेख के लिये दिया था कुत्ता

पीजीआई के एल्डिको उद्यान निवासी पीसी त्रिपाठी की बेटी रश्मि शर्मा की शादी गुड़गांव में हुई है. उनकी छह साल की बेटी है. इंस्पेक्टर पीजीआई आरएन राय के मुताबिक, चार साल पहले पहले पीसी त्रिपाठी ने बेटी रश्मि को काले रंग का लैब्रेडोर कुत्ता गिफ्ट किया था. लेकिन, गुड़गांव में रहने की वजह से रश्मि लैबे्रडोर को साथ न ले जा सकीं. इधर, पीसी त्रिपाठी किडनी रोग से ग्रसित हो गए, जिस वजह से उन्होंने करीब चार साल पहले कुत्ते को देखभाल के लिये अपने दोस्त अनूप श्रीवास्तव को दे दिया. रश्मि ने पुलिस को बताया कि कुत्ता देते वक्त उनके पिता ने अनूप से कहा था कि जब भी रश्मि कुत्ता ले जाने को तैयार होगी तो उन्हें उसे वापस करना होगा. अनूप ने उस वक्त हामी भर दी.

बेटी पड़ी बीमार

रश्मि ने बताया कि उनकी बेटी कुत्ते से काफी घुली-मिली थी. वह जब भी बेटी को लेकर लखनऊ आतीं थी तो अनूप के घर बेटी को ले जाकर कुत्ते से मिलवाती थी. रश्मि ने इस बीच कई बार कुत्ते को ले जाने की बात कही तो अनूप हर बार टालमटोल कर देते थे. कुत्ता न मिलने पर उनकी बेटी गुमसुम रहने लगी. जिस पर उन्होंने बेटी को डॉक्टर को दिखाया. डॉक्टर्स ने सलाह दी कि कुत्ते को घर ले आया जाए जिससे उनकी बेटी का मन बहल सके. रश्मि ने बताया कि बीती दो अगस्त को वह अनूप के घर अपना कुत्ता लेने के लिये पहुंची तो अनूप ने कुत्ता वापस करने से साफ इंकार कर दिया.

एडीजी के दखल पर एफआईआर

रश्मि ने इसकी शिकायत एल्डिको पुलिस चौकी पर की. आरोप है कि इसका पता चलने पर अनूप के दामाद ने 17 अगस्त को रश्मि के पिता पीसी त्रिपाठी को फोन कर गालीगलौज करते हुए धमकी दी. आखिरकार पीडि़ता रश्मि ने एडीजी जोन राजीव कृष्णा से मिलकर पूरे मामले की शिकायत की. एडीजी के आदेश पर पीजीआई पुलिस ने रश्मि की तहरीर पर अनूप श्रीवास्तव व उनके दामाद के खिलाफ अमानत में खयानत की एफआईआर दर्ज कर ली. इंस्पेक्टर राय ने बताया कि आरोपी पक्ष ने बताया है कि कुत्ता उसने पीसी त्रिपाठी से खरीदा है. हालांकि, दोनों पक्ष कोई रसीद प्रस्तुत नहीं कर सके हैं. मामले में लीगल ओपिनियन ली जाएगी.