- 37 कंपनी पैरामिलेट्री के हवाले रहेंगे पोलिंग सेंटर

- 15 जिलों की पुलिस बल संभालेंगी सुरक्षा की कमान

द्दह्रक्त्रन्य॥क्कक्त्र:

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के लिए जिले में पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। अति संवेनदशील और संवेदनशील बूथों पर जहां पुलिस की मुस्तैदी रहेगी, वहीं नदियों में नावों पर मौजूद रहकर पुलिस फोर्स संदिग्धों की गतिविधियों पर नजर रखेगी। मतदान के लिए 15 जिलों की पुलिस तैनाती गई है। 37 कंपनी पैरामिलेट्री फोर्स की व्यवस्था की गई है। एसएसपी ने कहा कि बवालियों से निपटने में पुलिस कोई कोताही नहीं बरतेगी। शांतिपूर्ण ढंग से मतदान करने में पुलिस हर तरह का सहयोग करेगी।

मतदान केंद्र की लक्ष्मण रेखा की पार तो भुगतेंगे

पोलिंग स्टेशन के दो सौ मीटर की दायरे में हर किसी की आवाजाही की इजाजत नहीं होगी। मतदाताओं के अलावा विशेष अनुमति प्राप्त लोग ही प्रवेश पा सकेंगे। वोट डालने वाले लोग इस दायरे में खड़े होकर बात नहीं कर सकेंगे। मोबाइल लेकर अंदर जाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। बूथ के अंदर वोट डालते हुए मोबाइल फोन यूज करने, सेल्फी लेना महंगा पड़ सकता है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि ऐसे लोगों को तत्काल गिरफ्तार कर लिया जाएगा। शिकायत सामने आने पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस कार्रवाई करेगी। बूथों पर पैरामिलेट्री फोर्स के अलावा लोकल पुलिस भी मौजूद रहेगी। सीसीटीवी कैमरों से भी मतदान केंद्रों पर नजर रखी जाएगी।

पुलिस की रीवर पेट्रोलिंग, चहुंओर रहेगी निगरानी

चुनाव के दौरान किसी तरह की संदिग्ध गतिविधियों से निपटने के लिए नदियों में पुलिस की तैनाती की गई है। नदियों में नाव पर मौजूद रहकर पुलिस कर्मचारी नजर रखेंगे। नदी में पेट्रोलिंग करने वाले पुलिस कर्मचारियों के पास दूरबीन होगी, जिससे वह दूर तक नजर रख सकेंगे। यदि किसी तरह की गड़बड़ी की आशंका हुई तो वायरलेस सेट के जरिए पेट्रोलिंग पार्टी को आगाह कर दिया जाएगा। बड़हलगंज और गोला क्षेत्र में पुलिस की रीवर पेट्रोलिंग होगी।

यह होगी व्यवस्था, ऐसे करेंगे निगहबानी

फ्लाइंग स्कवायड- 24

स्टेटिक स्कवायड - 24

सुपर जोनल मजिस्ट्रेट - 08

जोनल मजिस्ट्रेट - 30

सेक्टर मजिस्ट्रेट - 251

अतिरिक्त सीओ- 08

होमगार्ड्स जवान- 8000

जिले में कुल पिकेट- 50

जिले में कुल बैरियर- 50

पैरामिलेट्री फोर्स की तैनाती- 37 कंपनी

नावों पर तैनात फोर्स- एक दरोगा, चार कांस्टेबल

यह बरतें सावधानी

वोट डालने के लिए मतदान पर्ची और पहचान पत्र लेकर जाएं।

मतदान केंद्र के भीतर मोबाइल ले जाने के बजाय बाहर रखें।

कोई ज्वलनशील या संदिग्ध पदार्थ जेब में ना रखकर ना ले जाएं।

वोटिंग के लिए लाइन में लगने के दौरान किसी तरह धक्का-मुक्की न करें।

पोलिंग सेंटर तक जाने के लिए वाहन का प्रयोग कर सकते हैं। बशर्ते कोई प्रचार सामग्री न लगी हो।

मतदान केंद्र के आसपास चाय-पान की दुकानें खुली रहेंगी।

शराब पीकर या अन्य किसी नशे की हालत में बूथ पर पकड़े जाने पर कार्रवाई होगी।

वर्जन

शांतिपूर्ण मतदान के लिए पर्याप्त पुलिस बल की व्यवस्था की गई है। मतदान के दिन कड़ी चौकसी रहेगी। किसी तरह की सूचना पर मोबाइल टीमें पहुंच जाएंगी। चेकिंग प्वाइंट्स बनाए गए हैं जहां मौजूद टीमें संदिग्धों की जांच पड़ताल करेंगी।

डॉ। सुनील गुप्ता, एसएसपी