- धौलपुर के सर मथुरा में दबिश देने गई थी बसई जगनेर की पुलिस

- फायरिंग में एक ग्रामीण की गई जान, दोनों तरफ से हुआ मुकदमा

आगरा. थाना बसई जगनेर की टीम धौलपुर के गांव में पशु चोर पकड़ने गई थी. उस दौरान टीम पर हमला हो गया. पथराव कर दिया गया. पुलिस टीम ने जबावी हमले में फायरिंग की. एक गोली ग्रामीण को लगी जिससे उसकी मौत हो गई. इस पर धौलपुर पुलिस ने मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज किया जबकि यहां की पुलिस का मुकदमा भी थाने में दर्ज किया गया.

हुई थीं भैंस चोरी

दिसम्बर में बसई जगनेर से भैंस चोरी हुई थी. पुलिस ने इस मामले में मुकदमा पंजीकृत किया था. पुलिस टीम को जानकारी मिली कि आरोपी धौलपुर के गांव सर मथुरा में है. इस पर थाने के एसएचओ विवेक शर्मा, कुमार, सिपाही प्रदीप, घनश्याम, उमाशंकर, महिला कॉस्टेबल प्रिया, रजनी समेत नौ पुलिस कर्मी टीम में शामिल थे. बुधवार की रात पुलिस टीम सर मथुरा में पहुंच गई.

पुलिस पार्टी पर हुआ हमला

जानकारी के मुताबिक पुलिस टीम बिना राजस्थान पुलिस को सूचना दिए एंट्री कर गई. हमले के बाद पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस टीम को चारों तरफ से घेर लिया. टीम पर लाठी, डंडो से हमला कर दिया. साथ ही पथराव कर दिया. पुलिस टीम किसी तरह बचती-बचाती रही लेकिन हमलावर नहीं माने.

फायरिंग में हुई एक की मौत

पुलिस ने पथराव और हमले के जबाव में फायरिंग की. इस दौरान एक गोली ग्रामीण को लग गई. उसकी वहां पर मौत हो गई. पुलिस टीम किसी तरह बच कर आगरा लौट सकी. वहां पर मृतक के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने पुलिस टीम के खिलाफ हत्या में मुकदमा दर्ज कर लिया.

दोनों तरफ से हुआ मुकदमा

यहां पर पुलिस टीम का जिला अस्पताल में मेडीकल कराया गया है. हमले में कॉस्टेबल उमा शंकर के अधिक चोट आई. उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है. उसे गंभीर घायल अवस्था में धौलपुर के हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है. यहां की पुलिस ने वहां पर जानलेवा हमले सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है.