चांदी कारीगर ने खुद ही कराई थी 10 लाख की चांदी की लूट

पुलिस के सवालों में उलझे कारीगर ने उगल दिया राज

आगरा. थाना शाहगंज कोठी मीना बाजार में चांदी कारीगर के साथ लूट की वारदात में टर्निग प्वाइंट तब आया जब पीडि़त ने पुलिस को बदमाशों द्वारा मारी गई ईट दिखाई. ईट देखते ही पुलिस का माथा ठनका. इसके बाद पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो मामला खुल कर सामने आ गया. कारीगर ने अपना कर्जा पाटने के लिए खुद से लूट करवाई थी. पुलिस जल्द ही मामले का खुलासा करेगी.

कोठी मीना बाजार में लूटा

सिकंदरा दहतोरा निवासी राहुल चांदी कारीगर है. उसने गुरुवार को पुलिस को बताया कि वह कारोबारियों से चांदी लाकर ठेके पर पायल तैयार कराता है. गुरुवार दोपहर 55 किग्रा. चांदी के गहने तैयार कर स्कूटर से मोती कटरा में कारोबारी गोपी चंद और गौरव के पास जा रहा था. चांदी की कीमत दस लाख रुपये थी. वह साकेत कॉलोनी से कोठी मीना बाजार मैदान में होते हुए जा रहा था. उसी दौरान तीन बाइक सवार बदमाश आए और लात मार कर गिरा दिया. इसके बाद बदमाश उसका स्कूटर ले भागे.

सीसीटीवी में दिखे बदमाश

पुलिस ने जब सीसीटीवी कैमरे खंगाले तो तीन बाइक सवार बदमाश दिखाई दिए. ब्लैक कलर की बाइक पर आगे बैठा युवक लाल रंग की शर्ट पहने है. उसने अंगोछे से अपना चेहरा ढका हुआ था. बीच में बैठा युवक ने चेहरा नहीं ढका था. सबसे पीछे बैठे युवक ने भी कपड़े से चेहरा ढक रखा था. पुलिस ने रास्ते के सारे कैमरे चेक किए तो एक कैमरे में कारीगर उनसे बात करता भी दिखाई दिया.

ईट देखते ही चौंक गई पुलिस

जिस दौरान कारीगर के साथ लूट के बाद पुलिस वहां पर पहुंची. कारीगर बनियान से सिर दबाता हुआ पहुंचा. पुलिस को लगा कि बदमाशों ने तेज हमला भी बोला है. पुलिस ने जब सिर देखा तो छोटी-मोटी खरोंच थी. पुलिस ने जब पूछा कैसे हुआ तो उसने बोला बदमाशों ने ईट से मारा. पुलिस को उसने ईट दिखाई तो पुलिस चौंक गई. ईट एक दम नई थी. उस पर मिट्टी का निशान तक नहीं था. जबकि बारिश के समय में मैदान में हर ईट मिट्टी से पुती हुई है.

कारीगर के सिर पर है कर्जा

पुलिस पूछताछ में निकल कर आया कि कारीगर ने माक्रोफाइनेंस कंपनियों से कर्जा ले रखा है. उस पर 5 से 6 लाख का कर्जा है. कर्जा चुकाने के लिए उसके पास इससे अच्छा रास्ता नहीं हो सकता था. बाइक सवार बदमाशों ने उसके भाई का कारीगर भी है. राहुल और उसका भाई अलग-अलग कमरों में चांदी का काम करते हैं. पुलिस ने उसके भाई से पूछताछ करना चाहा तो वह गायब मिला.

20 किग्रा. माल बेच चुका है कारीगर

पुलिस पड़ताल में निकल कर आया कि जिस कारोबारी के यहां की चांदी लाया था उसने दो दिन पहले सारा माल देने को फोन किया था तब उसने तबियत खराब होने का बहाना लगा दिया. गुरुवार को भी कारोबारी ने उसे कॉल किया था. लेकिन माल पूरा नहीं था. दो-दो, तीन-तीन किग्रा. कर वह पहले ही 20 किग्रा. माल बेच चुका था.

सेल टेक्स के डर से मैदान से गया

पुलिस ने जब कारीगर से पूछा कि तुम रोड से न होकर मैदान से क्यों जा रहे थे तो उसका कहना था कि आगे सेल टेक्स वाले खड़े होते हैं इसके डर से मैदान से गया जबकि उस रोड पर कोई खड़ा नहीं होता.