क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : पांच जुलाई को भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के खिलाफ संयुक्त विपक्ष के बुलाए गए बंद से निपटने के लिए पुलिस प्रशासन की तैयारी युद्धस्तर पर चल रही है. बंद समर्थकों को काबू में रखने के लिए पुलिस ने कई खास इक्विपमेंट्स मंगाए हैं. इसमें टियर हैंड ग्रेनेड भी शामिल है, जिसके निशाने पर बंद के दौरान उपद्रव करने वाले होंगे. इतना ही नहीं, बंद के दौरान किसी तरह की कोई हिंसा नहीं हो, इस बाबत पुलिस की ओर से कई सुरक्षात्मक कदम उठाए जा रहे हैं.

पुलिस की मॉक ड्रिल

संयुक्त विपक्ष के बंद से निपटने के लिए पुलिस ने भी कमर कस ली है. ारखंड पुलिस मुख्यालय से लेकर जिला पुलिस इस बंद की आड़ में होने वाले उपद्रवों पर रोक लगाने के लिए कई कदम उठा रही है. इस बाबत मंगलवार को मॉक ड्रिल भी किया गया, जिसमें हथियारों और उपकरणों की प्रदर्शनी भी की गई.

विपक्ष भी पूरी तरह है तैयार

भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के खिलाफ संयुक्त विपक्ष के झारखंड बंद को लेकर सियासी हलचल चरम पर है. सरकार जहां बंद को विफल करने के लिए तमाम हथकंडे अपना रही है, वहीं विपक्ष ने भी बंद को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है. इस बाबत तमाम विरोधी दलों के बीच लगातार मंथन हो रहा है. कांग्रेस, जेएमएम व जेवीएम सरीखी पार्टियों की ओर से बंद को लेकर रणनीति बनाई जा रही है.

मंगाए गए हैें दो खास हथियार

रांची पुलिस ने इस बार उपद्रवियों से निपटने के लिए दो खास चीजें मंगवाई हैं. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए टियर हैंड ग्रेनेड मंगाया गया है. साथ ही रबर बुलेट की जगह प्रिंट बॉल मंगाया गया है, जो पीला और काला रंग का है. पुलिस के अनुसार ये बॉल उन उपद्रवियों पर छोड़ा जाएगा जो ज्यादा हिंसक होंगे. इससे उनके शरीर मे रंग के साथ दाग छोड़ देगा. फिर पुलिस उनकी पहचान कर उनपर कार्रवाई करेगी.

20 से ज्यादा मोबाइल दस्ते की होगी तैनाती

बंद के मददेनजर राजधानी के विभिन्न थानों में पदस्थापित टाइगर मोबाइल को क्लोज कर लिया गया है. उन्हें बंद में उपद्रवियों से निपटने के लिए लगाया जाएगा. बंद के दौरान 20 से अधिक मोबाइल दस्ता रहेगा. उपद्रवियों पर नजर रखने के लिए रांची पुलिस ड्रोन कैमरा को हायर करेगा.

हॉस्टल में चला सर्च अभियान

पुलिस ने रांची कॉलेज, आदिवासी कॉलेज आदि में प्रवेश कर हॉस्टल को चेक किया. हॉस्टल में रहनेवाले लोगों की आईडी चेक की और वार्डन आदि से पूछताछ किया. इस संबध में सिटी एसपी अमन कुमार ने बताया कि बंद के पूर्व ही हॉस्टल व होटलों की चेकिंग लगातार जारी रहेगी.

बंद समर्थकों से अपील, हिंसा न फैलाएं

पुलिस ने बंद समर्थकों से अपील की है कि वह बंद के दौरान शांतिपूर्वक सड़क पर उतरें अगर जरा भी उपद्रव मचाएंगे या फिर किसी को क्षति पहुंचाने की कोशिश करेंगे तो पुलिस सख्त कार्रवाई करने के लिए पूरी तरह से तैयार है.