- तिलक समारोह के दौरान रेलवे ठेकेदार की बदमाशों ने गोली मारकर की थी हत्या

- दो नामजद बदमाशों पर इनाम घोषित कर तलाश में जुटी पुलिस, करीबियों से पूछताछ

GORAKHPUR:

गोरखनाथ इलाके के जश्न मैरिज हॉल में तिलक समारोह के दौरान हुई ठेकेदार की हत्या के मामले में पुलिस हत्यारों के करीबियों की लिस्ट तैयार कर रही है. आरोपियों के परिजनों को हिरासत में लेकर पूछताछ के बाद पुलिस ने शातिर बदमाश दीपक सिंह और आशुतोष भट्ट के करीबियों और मददगारों को चिन्हित करने का काम शुरू कर दिया है. अब तक करीब दो दर्जन से अधिक लोगों की पुलिस ने लिस्ट भी तैयार कर उनपर नजर रख रही है. इनमें से कुछ को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ भी कर रही है. वहीं, बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने मंगलवार की रात भी दर्जन भर स्थानों पर दबिश दी. पुलिस उनके करीबियों के साथ कई संदिग्धों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ कर रही है. उनसे पूछताछ के बाद पुलिस हत्यारोपियों के करीब पहुंच गई है.

हत्या कर रिवाल्वर लूट ले गए थे बदमाश

गोरखनाथ इलाके के बरगदवा स्थित मैरेज हॉल में सोमवार की देर रात तिलक समारोह में मामूली बात पर मनबढ़ों ने रामनगर मिर्जापुर पचपेड़वा के रेलवे ठेकेदार अरविंद सिंह उर्फ मंटू को गोली मार कर हत्या कर उनकी लाइसेंसी रिवाल्वर लूट कर फरार हो गए थे. इस मामले में गोरखनाथ पुलिस ने अरविंद के पिता लक्ष्मीनारायण सिंह की तहरीर पर मूलत: गगहा के कोठा बेलवा व शहर के शाहपुर के मिथिलेश कम्पाउंड के रहने वाले आशुतोष भट्ट और गुलरिहा के शिवपुर शहबाजगंज के दीपक सिंह, निक्की और दो अज्ञात के खिलाफ हत्या और लूट का केस दर्ज किया है. इसमें दीपक शातिर अपराधी है. पुलिस रात में ही हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबाव बनाना शुरू कर दी. इसके लिए उनके घर दबिश देने के साथ करीबियों व रिश्तेदारों के यहां भी दबिश दिया. आरोपियों के नहीं मिलने पर पुलिस उनके करीबियों को हिरासत में ले लिया था. मंगलवार की रात भी पुलिस ने दर्जनभर स्थानों पर दबिश दी. इस दौरान पुलिस कई संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. संदिग्धों से कड़ाई से पूछताछ के बाद पुलिस को कई अहम सुराग हाथ लगे हैं.

दीवानी गेट से बदमाशों को उठाने की चर्चा

वहीं, दूसरी ओर बुधवार को शहर में यह चर्चा रही कि ठेकेदार के मामले में नामजद बदमाश कोर्ट में सरेंडर करने की फिराक में थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें कोर्ट के बाहर से ही उठा लिया. हालांकि फिलहाल पुलिस की ओर से इसकी पुष्टि नहीं की गई है. बावजूद इसके दीवानी गेट के बाहर स्थित दुकानदारों और प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक पुलिस ने कोर्ट में सरेंडर करने जा रहे दो बदमाशों को पकड़कर ले गई.