दो अन्य भी थे आरोपी के साथ मुंह काला करने वाले, तीनों को पुलिस टीम ने किया गिरफ्तार

बचने के लिए दिया नशे का हवाला, पुलिस ने भेजा रेप में जेल

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: करेली की रहने वाली नाबालिग दिव्यांग बच्ची को हवस का शिकार बनाने वालों में एक वह भी शामिल था जो खुद दो छोटे बच्चों का बाप था. इस घटना के लेकर बेहद खफा स्थानीय लोगों के सहयोग से पुलिस ने बच्ची के साथ गैंगरेप को अंजाम देने वाले तीन लोगों को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया. उन्होंने स्मैक और अफीम के नशे में गलती कर जाने का हवाला दिया लेकिन स्थानीय लोगों के दबाव में पुलिस ने उनकी एक न सुनी. मेडिकल रिपोर्ट में रेप प्रमाणित होने के बाद पुलिस ने सभी का चालान रेप में ही किया.

मंगलवार को हुई थी घटना

14 फरवरी को करैली की रहने वाली एक दिव्यांग नाबालिग बच्ची मीरापुर एरिया में अस्त-व्यस्त हालत में मिली थी. वह बोल नहीं पाती है. अस्त-व्यस्त हाल में देखकर परिवार के लोग सन्नाटे में आ गए. स्थानीय लोगों ने भी बच्ची के परिवारवालों का पूरा साथ दिया और थाने पहुंचे तो पुलिस भी दबाव में आ गई. बच्ची को मेडिकल के लिए भेजा गया तो गैंगरेप की पुष्टी हो गई. इसके बाद स्थानीय लोगों का पारा चढ़ गया क्योंकि उनके सामने कुछ दिन पूर्व मीरापुर एरिया में नाबालिग से रेप के बाद मौत की नींद सुलाने की घटना घूम गई. बच्ची की बॉडी नाले में मिली थी. पब्लिक का गुस्सा देख पुलिस टीम एक्टिव हो गई. कई थानाध्यक्षों को जांच में लगा दिया गया.

वेंडर्स के सहयोग से पकड़े गए

गुरुवार को क्राइम ब्रांच की टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि नाबालिग दिव्यांग बच्ची से दुष्कर्म के आरोपी कहीं भागने के फिराक में हैं. जानकारी होते ही क्राइम ब्रांच व पुलिस टीम ने अतरसुईया के गोलपार्क चौराहे के पास घेराबंदी की, जहां करेली के तुलसीपुर निवासी मो. आरिफ और जोगीघाट दरियाबाद निवासी मो. फिरोज उर्फ मिन्जू को गिरफ्तार किया गया. पूछताछ में दोनों ने अपना गुनाह कुबूल किया. पुलिस टीम को बताया कि उन्होंने ही दिव्यांग बच्ची से दुष्कर्म किया था. आरिफ व फिरोज ने बताया कि 14 फरवरी को दोनों एसएस खन्ना कॉलेज तिराहा के सामने तिकोनिया पार्क में थे. तभी सूफियान उर्फ गूंगा एक लड़की का हाथ पकड़ कर आया. लड़की को देखते ही हम दोनों ने गूंगे के हाथ से लड़की को ले लिया और गूंगे को वहां से भगा दिया. इसके बाद दोनों बच्ची को कुछ दिलाने का लालच देकर कब्रिस्तान में ले गए. जहां दोनों ने बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म किया.

हालत बिगड़ी तो छोड़कर भागे

पुलिस के अनुसार रेप के बाद बच्ची की ब्लीडिंग बढ़ गई तो दोनों घबरा गए और बच्ची को छोड़ कर भाग निकले. एसपी सिटी विपिन ताडा ने गुरुवार की दोपहर घटना का खुलासा करते हुए तीनों आरोपियों को मीडिया के सामने पेश किया. उन्होंने बताया कि मंगलवार को फिरोज और आरिफ दोनों ने शराब व स्मैक पी रखी थी. जिसके नशे में दोनों ने घटना को अंजाम दिया. उन्होंने बताया कि आरिफ स्लाटर हाउस में काम करता है. फिरोज उर्फ मिंजू रिक्शा चलाता है. वह दो बच्चों का बाप है. वहीं सूफियान दिव्यांग बच्ची को लेकर आता-जाता था. घटना के खुलासे में मीरापुर, अतरसुइया व करेली के लोगों ने पुलिस का फुल सपोर्ट किया. हॉकर रसीद व तारिक ने साक्ष्य जुटाने में पुलिस की भरपूर मदद की. जिनकी वजह से आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ सके.

दिव्यांग बच्ची से गैंग रेप का खुलासा हो गया है. सभी आरोपियों को पकड़ लिया गया है. पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है.

-बिपिन ताडा

एसपी सिटी