बार्डर रूल्स हटाने पर पुलिस विभाग कर रहा विचार

डीजीपी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर पुलिसकर्मियों से मांगा सुझाव

आईजी कार्यालय में एसएसपी समेत पुलिसकर्मी रहे मौजूद

Meerut. पुलिसकर्मियों की गृह जनपद की तैनाती का रास्ता साफ हो सकता है. डीजीपी ओपी सिंह की पहल के बाद एक कमेटी का गठन किया गया है, जो इस संबंध में पुलिस अधिकारियों और पुलिसकर्मियों से फीडबैक ले रही है. बुधवार को आईजी रेंज राजकुमार के कार्यालय में वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान पुलिसकर्मियों ने इस मुद्दे पर अपने अनुभव साझा किए.

पुलिसकर्मियों की मिलीजुली राय

पुलिस महकमे में चल रही गतिविधियों को रुख देने के लिए डीजीपी ओपी सिंह ने पुलिसकर्मियों के गृह जनपद में तैनाती के मुद्दे को तूल दिया है. पुलिसकर्मियों के बीच खासे चर्चित डीजीपी की इस मुहिम को अमली जामा पहनाने के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है. जिसमें डीजीपी के अलावा प्रदेश के विभिन्न जोन एडीजी, रेंज के आईजी, जनपद के एसएसपी आदि शामिल हैं. शासन की निर्देशन में यह कमेटी प्रदेश के पुलिसकर्मियों से इस मुद्दे पर राय ले रही है. इसी क्रम में बुधवार को आईजी रेंज राजकुमार के कार्यालय में एसएसपी अखिलेश कुमार की मौजूदगी में पुलिसकर्मियों ने अपनी-अपनी राय दी. वीडियो कांफ्रेंसिंग में डीजीपी के समक्ष पुलिसकर्मियों ने मिलीजुली प्रतिक्रिया जाहिर की. कुछ का कहना था कि गृह जनपद के मिलने से पुलिस की कार्यप्रणाली चुस्त-दुरुस्त होगी. तो वहीं कुछ इस विचार से सहमत नहीं थे.

मुश्किल होगा काम करना

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान कुछ पुलिसकर्मियों ने बताया कि गृह जनपद में तैनाती से कई मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा. कानून व्यवस्था को बहाल करना चुनौती होगा तो वहीं पुलिसकर्मियों को संबंधों का खामियाजा भी भुगतना पड़ सकता है. ज्यादातर ने पड़ोसी जनपद में तैनाती का सुझाव दिया. इस दौरान सीओ, इंस्पेक्टर, हेड कांस्टेबल स्तर के पुलिसकर्मी वीडियो कांफ्रेंसिंग में मौजूद थे. सभी पुलिसकर्मियों ने अपने-अपने सुझावों को लिखकर भी दिया.