सुनील दुआ की गिरफ्तारी के लिए एसएसपी से मिले टैंट व्यापारी

दुआ ने लाइसेंसी पिस्टल से टैंट व्यापारी पर चलाई थी गोली

Meerut. व्यापारी नेता सुनील दुआ को टैंट व्यापारी पर गोली चलाना भारी पड़ गया. पुलिस ने गिरफ्तारी के लिए उसके घर व दुकान में ताबड़तोड़ दबिश डाली, लेकिन उसके घर व दुकान पर ताला लटका मिला. इसके साथ उसकी गिरफ्तारी के लिए टैंट व्यापारी एसएसपी से भी मिले. एसएसपी अखिलेश कुमार का कहना है कि सुनील दुआ की तलाश में ताबड़तोड़ दबिश डाली जा रही है. उसकी शीघ्र ही गिरफ्तारी की जाएगी.

यह है मामला

दीपावली के दिन सदर बाजार के टैंट व्यवसायी संदीप गुप्ता से सदर व्यापार मंडल के अध्यक्ष सुनील दुआ ने 50 रुपये रोज पर मेज किराए पर ली थी. जब संदीप गुप्ता किराए के तीन सौ रुपये मांगने गए तो सुनील दुआ से उनका विवाद हो गया. आरोप है कि इस दौरान सुनील दुआ ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से उन्हें गोली मार दी थी. गोली हाथ को चीरती हुई निकल गई. आसपास के लोगों ने उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया. सदर थाने में सुनील दुआ के खिलाफ जान से मारने के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया गया.

न्याय की गुहार

शुक्रवार दोपहर करीब 40-50 टैंट व्यापारी उप्र टेंट व्यापारी एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष विपुल सिंघल, मेरठ अध्यक्ष नवीन अग्रवाल के नेतृत्व में सदर पुलिस के खिलाफ नारे लगाते हुए एसएसपी आवास पर पहुंचे. उन्होंने एसएसपी अखिलेश कुमार से मुलाकात कर आरोप लगाया कि सदर पुलिस की मिलीभगत से सुनील दुआ थाने से फरार हुआ है. उन्होंने कहा कि अगर पुलिस ने दो दिन के भीतर सुनील दुआ को गिरफ्तार नहीं किया तो वह सड़क पर उतरने को मजबूर होंगे. उन्होंने कहा कि उसके अन्य साथियों की भी गिरफ्तारी की जाए. एसएसपी अखिलेश कुमार ने उन्हें आश्वासन देकर मामला शांत कराया.

नहीं मिली थी तहरीर

सदर इंस्पेक्टर सुभाष अत्री का कहना है कि सदर थाने में दोनों पक्ष झगड़ा करते हुए आए थे. किसी ने भी एक दूसरे के खिलाफ तहरीर नहीं दी थी. इसलिए सुनील दुआ को गिरफ्तार नहीं किया गया था. जब तहरीर आई तो सुनील दुआ थाने से खिसक चुका था.

आवास-दुकान पर ताले

इंस्पेक्टर सुभाष अत्री ने बताया कि सुनील दुआ की गिरफ्तारी के लिए उसके थापर नगर स्थित आवास पर दबिश डाली, वहां पर ताला लटका मिला. इसके बाद उसकी दुकान पर भी दबिश डाली गई. वहां भी ताला मिला. पुलिस का कहना है कि दो टीमें बनाकर उसके रिश्तेदारों के घर पर दबिश डाली जा रही है. उसकी शीघ्र ही गिरफ्तारी कर ली जाएगी.