1000

बोरी अरहर की दाल लादी गई थी

30

टन अरहर की दाल का कुल वजन

01

चोरी की ट्रक पुलिस ने लिया कब्जे में

मार्केट में 32 लाख के करीब बताई गई पकड़ी गई दाल की कीमत

क्राइम ब्रांच व दारागंज पुलिस को मिली बड़ी सफलता, महाराष्ट्र से लखनऊ जा रहा था ट्रक

PRAYAGRAJ: एक हजार बोरी अरहर की दाल लाद कर लखनऊ जा रहे चोरी के ट्रक को पुलिस ने मंगलवार की रात धर दबोचा। दाल की मार्केट कीमत करीब 32 लाख रुपए आंकी गई है। पकड़े गए अभियुक्त ने ट्रक के प्लेट पर लिखे नंबर को फर्जी बताया। क्राइम ब्रांच व दारागंज पुलिस ट्रक के साथ पकड़े गए युवक को थाने लाकर कड़ाई से पूछताछ की। इसके बाद मामला दर्ज कर युवक को जेल भेज दिया गया। बुधवार को पुलिस लाइंस में एसएसपी अतुल शर्मा ने मामले का खुलासा किया।

फर्जी था ट्रक पर लिखा नंबर

एसएसपी ने बताया कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर शातिरों की गिरफ्तारी में क्राइम ब्रांच व थानों की फोर्स को लगाया गया है। मंगलवार रात दारागंज पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम चेकिंग पर निकली थी। मुखबिर ने पुलिस को बताया कि एक व्यक्ति चोरी का ट्रक लेकर लैप्रोसी चौराहे की ओर जा रहा है। सूचना पर सतर्क हुई पुलिस ने जवाहर चौराहे पर घेराबंदी की। इस बीच एक ट्रक आता हुआ दिखा। पुलिस टार्च मार के रुकने का इशारा किया तो चालक चौराहे से थोड़ी दूरी गाड़ी पार्क करके भागने लगा। पुलिस ने दौड़ा कर उसे पकड़ा। उसने अपनी पहचान मो। गुफरान पुत्र रियासत अली निवासी कजियासूरत का पुरवा अटरामपुर नवाबगंज बतायी। चेकिंग में ट्रक पर 1000 बोरी अरहर की दाल लदी मिली। चालक ने पुलिस को बताया कि वह महाराष्ट्र से 30 टन दाल लेकर लखनऊ जा रहा था। दाल को चोरी से बेचने की उसकी प्लानिंग थी। बताया कि ट्रक पर लिखा नंबर यूपी 72 एटी 5390 फर्जी है। पकड़े गए ट्रक का असली नंबर यूपी 70 एफटी 8415 है। ट्रक के मालिक मो। निजाम निवासी छितपालगढ़ मानधाता प्रतापगढ़ हैं। उसने बताया कि उसके साथी शेबू के जीजा अब्दुला कयूम पुत्र आबाद अली निवासी रामपुर बंतरी प्रतापगढ़ ने इस ट्रक को 4.60 लाख रुपए में बेचा था। वह चोरी की गाडि़यों को खरीद कर नकली कागजात बनवाने के बाद बेचने का धंधा करता है।