RANCHI: क्फ्वीं झारखंड राज्य पुलिस खेलकूद प्रतियोगिता का सोमवार को डोरंडा में शानदार आगाज हुआ. जैप-क् ग्राउंड में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने उद्घाटन किया. कहा कि क्राइम कंट्रोल व प्रदेश में लॉ एंड ऑर्डर की प्रॉब्लम के बावजूद प्रतियोगिता में पुलिस जवानों का पार्टिसिपेट करना गौरव की बात है. पुलिस की दिनचर्या काफी व्यस्त होती है. उन्हें जनहित में अपने दायित्वों के निर्वहन के लिए हमेशा तत्पर रहना चाहिए. साथ ही इन्वेस्टिगेशन में नई तकनीक व वैज्ञानिक तरीकों का इस्तेमाल करने की जरूरत है.

पुलिस का फिट रहना जरूरी

डीजीपी डीके पांडेय ने कहा कि खेलकूद से शारीरिक एवं मानसिक क्षमता बढ़ती है. पुलिसकर्मी जन-सहयोग से कार्य करने की दिशा में पूर्णत: प्रयास करें. किसी भी परिस्थिति में जनता के विश्वास को ठेस न पहुंचाएं. अनुसंधान कायरें में जन-सहयोग जरूरी है. जनता के प्रति पुलिस का व्यवहार कुशल हों. इसके लिए फिट रहना जरूरी है, जो खेल से ही संभव है. मौके पर एडीजी रेजी डुंगडुंग, सीआइडी आईजी संपत मीणा, संजय लाटेकर, आरके मल्लिक, आशीष बत्रा, डीआईजी अमोल वेणुकांत होमकर, एसएसपी कुलदीप द्विवेदी, सिटी एसपी अमन कुमार समेत अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद थे.

सेंट अन्ना हाई स्कूल की ग‌र्ल्स ने किया बैंड डिस्पले

झारखंड राज्य पुलिस खेलकूद प्रतियोगिता के मौके पर मांडर स्थित सेंट अन्ना ग‌र्ल्स हाई स्कूल की छात्राओं ने बेहतर बैंड डिस्पले किया. जैप ग्राउंड में छात्राओं ने बैंड डिस्पले करते हुए कई तरह का प्रदर्शन भी किया. प्रदर्शन देख राज्यपाल ने छात्राओं को पुरस्कृत भी किया.

इन खिलाडि़यों को मिला सम्मान

सिल्वानुस डुंगडुंग(हॉकी), मनोहर टोप्पो(हॉकी), सुशील कुमार(कुश्ती), बगीचा सिंह(एथलेटिक), प्रेमलता अग्रवाल(पर्वतारोही), उमेश विक्त्रम कुमार(बैडमिंटन), हसल इमाम मल्लिक(हैंड बॉल) को सम्मानित किया गया.