BAREILLY :

घायल होमगार्ड विजयपाल

हादसे को याद कर सहम जाता है. 12 साल से आंवला थाने में तैनात विजयपाल ने बताया कि एसआई श्रीकांत की जब भी नाइट ड्यूटी होती थी तो वे सुबह के समय हाइवे की तरफ से ही लौटते थे. लेकिन पता नहीं सैटरडे को वे किस मनहूस घड़ी में निकले थे, जो उनकी जान चली गई. गुलेली मनौना निवासी विजय पाल ने बताया कि होली पब्लिक स्कूल के पास ट्रक के गुजर जाने के बाद अचानक तेज धमाका हुआ. उसको कुछ समझ ही नहीं आया कि क्या हुआ< :

घायल होमगार्ड विजयपाल

हादसे को याद कर सहम जाता है. क्ख् साल से आंवला थाने में तैनात विजयपाल ने बताया कि एसआई श्रीकांत की जब भी नाइट ड्यूटी होती थी तो वे सुबह के समय हाइवे की तरफ से ही लौटते थे. लेकिन पता नहीं सैटरडे को वे किस मनहूस घड़ी में निकले थे, जो उनकी जान चली गई. गुलेली मनौना निवासी विजय पाल ने बताया कि होली पब्लिक स्कूल के पास ट्रक के गुजर जाने के बाद अचानक तेज धमाका हुआ. उसको कुछ समझ ही नहीं आया कि क्या हुआ? ? वहं जीप में पीछे बैठा था. उसका सिर किसी चीज से टकराया और बेहोश हो गया. होश आया तो सभी लोग गड्ढे में पड़े थे.