kanpur@inext.co.in
KANPUR : आईपीएस सुरेंद्र दास की खुदकुशी की गुत्थी सुलझने के बजाय उलझती जा रही है. आईपीएस के परिजन और ससुराल पक्ष दोनों ही एक-दूसरे को आईपीएस की खुदकुशी का जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. जिसके चलते अभी तक पुलिस भी किसी नतीजे पर पहुंचने में नाकाम साबित हुई है. लेकिन इस बीच आईपीएस की महिला मित्र पुलिस के लिए एक उम्मीद की किरण साबित हो सकती है. क्योंकि इस महिला मित्र को आईपीएस की सुसाइड के बारे में पहले से ही पता था. ऐसे में आईपीएस की खुदकुशी का जिम्मेदार कौन है, इसका पता लगाने के लिए पुलिस आईपीएस की उस महिला मित्र से पूछताछ करेगी. आईपीएस ने अपने सुसाइड नोट में भी इस महिला मित्र का नाम लिखा था. इसके अलावा गुरुवार को आईपीएस के कमरे को भी खंगाला जाएगा. जिसे पुलिस ने सील कर दिया था. पुलिस को इसी कमरे से सुसाइड नोट मिला था. पुलिस को उम्मीद है कि उन्हें कमरे से कोई न कोई अहम सुराग जरूर मिलेगा.

महिला मित्र को पता था
आईपीएस सुरेंद्र दास की खुदकुशी के मामले की जांच एसपी वेस्ट संजीव सुमन को सौंपी गई है. अभी तक की जांच से यह तो साफ हो चुका है कि उन्होंने घरेलू कलह में खुदकुशी की, लेकिन उस कलह का जिम्मेदार कौन है. यह अभी पता नहीं चला है. इसका पता लगाने के लिए पुलिस ने उनकी महिला मित्र से पूछताछ की तैयारी की है. यह महिला मित्र आईपीएस और उनकी पत्नी की दोस्त है. इस महिला मित्र से पहले आईपीएस की शादी तय हुई थी, लेकिन परिजनों के राजी न होने से शादी टूट गई थी. आईपीएस ने सुसाइड नोट में इस महिला मित्र के बारे में लिखा था. उन्होंने लिखा था कि उनके मन में आत्महत्या करने के विचार आ रहे हैं. इस बारे में उनकी महिला मित्र को पता था. उन्होंने पत्नी के लिए लिखा था कि वह महिला मित्र से इस बारे में पूछ सकती है. इससे पुलिस का मानना है कि आईपीएस ने अपने परेशान होने की बात महिला मित्र से जरुर की होगी. इसके अलावा पुलिस को महिला मित्र के पास आईपीएस के बारे में और भी जानकारी होने की उम्मीद है.

सील कमरे को खोलकर छानबीन होगी
आईपीएस ने जिस कमरे में जहरीला पदार्थ खाया था. उसी कमरे से पुलिस को सुसाइड नोट मिला था. अब पुलिस ने दोबारा इस कमरे को खंगालने की तैयारी की है. इसके लिए गुरुवार को एसपी वेस्ट की मौजूदगी में कमरे की सील खोलकर खंगाला जाएगा.

परिजन और दोस्तों से होगी पूछताछ
आईपीएस की खुदकुशी की सच्चाई का पता लगाने के लिए उनके परिजन और दोस्तों से भी पूछताछ की जाएगी. इसके लिए एसपी वेस्ट ने एक टीम बना दी है. यह टीम गुरुवार को आईपीएस के परिजनों से पूछताछ करने के लिए लखनऊ जाएगी. दोस्तों से पूछताछ के लिए एक टीम सहारनपुर जाएगी.

एफआईआर दर्ज कर सकती है पुलिस
आईपीएस की खुदकुशी के मामले में अभी कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई है. आईपीएस के भाई ने पुलिस को शिकायत पत्र दिया है, जबकि उनके ससुर ने लखनऊ में डीजीपी को प्रार्थना पत्र दिया है. दोनों ने प्रार्थना पत्र में जांच के आधार पर एफआईआर की मांग की है. बताया जा रहा है कि पुलिस अभी तक मामले को दबाए थी, लेकिन आईपीएस के सास और ससुर के कांफ्रेंस करने के बाद पुलिस एक्टिव हो गई है.