patna@inext.co.in

PATNA : आयुष्मान भारत योजना के तहत जन आरोग्य योजना की सोमवार को प्रायोगिक शुरुआत की गई. योजना के तहत चिह्नित परिवारों को सालाना पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा मिलेगी. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने पीएमसीएच में करीब एक दर्जन लाभार्थियों को गोल्ड कार्ड दिया. मंत्री ने कहा कि अब लोगों के इलाज के पैसे बचेंगे और इसका उपयोग परिवार तथा घर के विकास में लगाएंगे. योजना की विधिवत शुरुआत 25 सितंबर से होगी. स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि योजना का लाभ बिहार के एक करोड़ आठ लाख परिवार के करीब पांच करोड़ 85 लाख लोगों को लाभ मिलेगा.

प्राइवेट अस्पताल में भी होगा इलाज

चिह्नित परिवारों को गोल्ड कार्ड दिया जाएगा जिससे सरकारी अस्पतालों और सूचीबद्ध निजी अस्पतालों में अपना इलाज करा सकेंगे. केन्द्र और राज्य सरकार के सहयोग से योजना का संचालन होगा. योजना में सरकारी अस्पताल के साथ-साथ प्राइवेट अस्पताल भी जोड़े जाएंगे. सरकारी स्तर पर प्राइवेट अस्पतालों का पैनल बनाने का काम शुरू कर दिया गया है. प्राइवेट अस्पताल योजना से जुड़ने को ऑनलाइन आवेदन करने लगे हैं.