- लोनिवि द्वारा हाल ही में बनाई गई सड़क धंसी, उठे सवाल

- शिकायत करने पर विभाग द्वार लगाए गए पैच भी उखड़े

- लोगों को आवाजाही में दिक्कत, हादसों का बना है खतरा

देहरादून.

बसंत विहार इलाके में एक करोड़ की लागत से बनी सड़क 20 दिन में दो बार धंस चुकी है. डेढ़ वर्ष पहले पेयजल निगम द्वारा सड़क के किनारे ड्रेनेज सिस्टम बनाया गया था और सड़क की मरम्मत की जानी थी. हाल ही में लोक निर्माण विभाग ने सड़क की मरम्मत कर उस पर ब्लैक टॉपिंग की थी. लेकिन, कुछ ही दिन बाद सड़क धंसने लगी. सड़क पर जगह-जगह गढ्डे बन गए हैं, जिससे लोगों को आवाजाही में दिक्कत हो रही है और हादसों की आशंका बनी है.

2.2 किमी बनी है सड़क

पेयजल निगम की ओर से ड्रेनेज सिस्टम डेवलप करने के बाद एक लोक निर्माण विभाग ने सड़क को पिछली बरसात में छोड़ दिया था. बताया गया था कि बरसात में सड़क की मिट्टी ठीक से बैठ जाएगी और उसके बाद सड़क बनाई जाएगी ताकि वह धंसे नहीं. हाल ही में विभाग ने एक करोड़ एक लाख की लागत से 2.2 किमी रोड तैयार की थी.

दो बार धंस गई सड़क

20 दिन के भीतर दो बार यह सड़क धंस चुकी है. इससे लोनिवि की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं. पहली बार जब सड़क धंसने पर लोगों ने लोनिवि से इसकी शिकायत की तो विभाग ने पैच वर्क कर उसे दुरुस्त कर दिया. लेकिन, ये पैच भी अब उखड़ गए हैं. दोबारा शिकायत करने पर अब विभाग ने धंसी हुई जगह पर रोड़ी डाल दी है.

पहले तो डेढ़ साल तक यहां सड़क बनाई ही नहीं गई, अब बनी तो कुछ दिन राहत मिली और अब सड़क उखड़ने लगी है. इससे परेशानी तो हो ही रही है, हादसों का भी खतरा बना हुआ है.

- जितेंद्र सिंघल, स्थानीय निवासी.

--

सड़क धंसने पर जब शिकायत की गई तो पहले तो लोनिवि ने पैच लगाकर उसे दुरुस्त कर दिया था. अब फिर सड़क धंस गई है, विभाग ने धंसी हुई जगह पर रोड़ी भर दी है जो और खतरनाक है.

अमर कोहली, स्थानीय निवासी.