- अभी तक शहर में जल निकासी की व्यवस्था नहीं हुई दुरुस्त

- शहर के बड़े-छोटे नाले चोक, बरसात में बस्तियों में पानी घुसने का खतरा

- प्री मानसून की बारिश ने खोली निगम की पोल

DEHRADUN : मानसून सिर पर खड़ा है, प्री मानसून की बारिश कांवली रोड इलाके को एक बार डुबा चुकी है. लेकिन, शहर में जल निकासी की व्यवस्था के लिए अभी तक काम शुरू नहीं किया गया है. शहर के सभी बड़े-छोटे नाले चोक हैं जिन्हें पिछले एक वर्ष से खोलने की बात कही जा रही है, लेकिन नालों की सफाई नहीं की जा रही है. जल्द ही शहर के चोक नालों को नहीं खोला गया तो शहर इस बार भी जलमग्न होगा और नगर निगम व संबंधित विभागों की लापरवाही जनता को भुगतनी पड़ेगी.

अब तक नहीं हुए टेंडर

शहर के बड़े नालों की सफाई को लेकर नगर निगम की ओर से अब तक टेंडर कॉल नहीं किए गए हैं. ऐसे में चोक नालों की सफाई की कोई योजना तैयार नहीं हो पाई है.

पिछले वर्ष भी नहीं हुई थी सफाई

नगर निगम द्वारा पिछले वर्ष भी नालों की सफाई के लिए टेंडर किए गए थे, लेकिन निगम को कोई ठेकेदार ही नहीं मिला. ऐसे में पिछले वर्ष निगम द्वारा नाला गैंग गठित की गई थी और कर्मचारियों ने नालों की थोड़ी-बहुत सफाई की थी, हालांकि यह काम भी मानसून के बाद किया गया.

नाला गैंग नहीं करेगी सफाई

सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के तहत स्कैवेंजर (सड़क, नालों से कूड़ा उठाने वाले) नालों से कूड़ा उठाने का काम नहीं कर सकते. ऐसे में नाला गैंग को गंदे नालों में नहीं उतारा जा सकता. हालांकि, नालों की सफाई के लिए नगर निगम द्वारा 120 सदस्यों की गैंग तैयार की गई है. ये लोग मशीनों के जरिए नालों को साफ करने का काम कर सकते हैं.

29 मई से होने थे नाले साफ

नगर आयुक्त विजय कुमार जोगदंडे द्वारा पिछले दिनों एक सर्कुलर जारी किया गया था. बीती 29 मई से नालों की सफाई का काम शुरू किया जाना था, लेकिन अभी तक चोक नालों को खोलने का काम शुरू नहीं हो पाया है. ऐसे में बारिश के दौरान जलभराव का खतरा बढ़ गया है.

बरसात से पहले नालों की सफाई की जाएगी, छोटे नालों को नाला गैंग व बड़े नालों की सफाई के लिए टेंडर कॉल किए जाएंगे.

आर के सिंह, नगर स्वास्थ्य अधिकारी