RANCHI: रिम्स में शुक्रवार को रात साढ़े 9 बजे अचानक से बत्ती गुल हो गई। फेनी तूफान की वजह से सिटी अंधेरे में डूब गई। वहीं रिम्स के कई वार्डो में भी अंधेरा छा गया। तूफान का अलर्ट जारी होने के बावजूद प्रबंधन ने अंधेरे से निपटने के लिए बैकअप प्लान नहीं रखा। इस वजह से सर्जरी आईसीयू समेत कई वार्डो में अंधेरे में ही मरीजों का इलाज किया जा रहा था। कुछ जगहों पर डॉक्टर और नर्स टॉर्च लेकर मरीजों का इलाज करते नजर आए। तो कुछ वार्डो में मोबाइल की लाइट में ही डॉक्टरों ने वार्ड का राउंड किया।

मरीजों के साथ डॉक्टर भी परेशान

हॉस्पिटल के इमरजेंसी में तो लाइट थी। लेकिन आईसीयू जैसे सबसे महत्वपूर्ण विभाग में ही लाइट नहीं थी। जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि इतने बड़े हॉस्पिटल में पावर कट की स्थिति से निपटने के लिए कोई बैकअप तैयार नहीं है। ऐसे में मरीजों को भी काफी परेशानी झेलनी पड़ी। अंधेरा होने के कारण दवा से लेकर हर चीज के लिए मरीज और परिजन भटकते रहे। इसकी सूचना बिजली विभाग के अधिकारियों को दी गई। लेकिन काफी मशक्कत के बाद भी वे फॉल्ट नहीं ढूंढ पाए।