-पूर्वाचल विद्युत वितरण निगम ने कुम्भ मेले को जगमगाने के लिए 226 करोड़ का इस्टीमेट किया तैयार

-61 करोड़ से लगाए जाएंगे स्ट्रीट लाइट व जनरेटर

पूर्वाचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने इलाहाबाद कुम्भ मेले को जगमगाने के लिए 226 करोड़ रुपये का इस्टीमेट तैयार किया है. इस योजना के तहत मेला क्षेत्र में हाईटेंशन व लो-टेंशन तार दौड़ाने के साथ ही 400 केवी के 54 उपकेंद्र भी बनाए जाएंगे. इसके साथ ही पहली बार एलईडी लाइटों से मेले को जगमगाने की भी तैयारी की गई है. जिससे श्रद्धालुओं को किसी तरह की कोई दिक्कत का सामना करना न पड़े. पूर्वाचल विद्युत वितरण निगम ने इस्टीमेट तैयार करके आगे का कार्य शुरू कर दिया है.

सारा खाका तैयार

पीवीवीएनएल के नए एमडी के आदेशानुसार कुंभ मेले में 226 करोड़ रुपए से होने वाले कार्यो का खाका तैयार कर लिया गया है. इसमें विभाग 100 करोड़ रुपये से होने वाले विकास कार्यो को पीवीवीएनएल अपने मद से करेगा. जिसमें ट्रांसफार्मर, पोल, कंडक्टर, एचटी व एलटी तार शामिल है. पीवीवीएनएल एमडी गोविंदराजू एनएस ने बताया कि मकर संक्रांति से शुरू होकर महाशिवरात्रि तक करीब तीन माह चलने वाले कुंभ मेले की तैयारी के लिए कार्ययोजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है.

कहां क्या होगा

61 करोड़ से इलाहाबाद कुंभ मेले में स्ट्रीट लाइट व जनरेटर लगाए जाएंगे. 40,700 एलईडी, 175 हाईमास्क लाइट, 54 जनरेटर लगेंगे.

125 केवीए व 63 केवीए के बड़े जनरेटेर होंगे. 1030 किमी एलटी व 105 किमी हाईटेंशन तार लगाए जाएंगे पूरा मेले क्षेत्र में.

80 हजार कैंप में कनेक्शन

कुम्भ के दौरान दो लाख 80 हजार कैम्पों में कनेक्शन दिया जाएगा. वहीं, पूरे मेले परिसर को बिजली देने के लिए 163 अलग-अलग क्षमता के उपकेंद्र बनाए जाएंगे. इसमें 400 केवी के 74, 100केवी के 79 और 250 केवी के 10 ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे. जिनसे 24 घंटे बिजली आपूर्ति की जाएगी. इसके लिए 132 केवी उपकेंद्र की आठ 33 केवी की लाइनें मेले के लिए डिस्ट्रीब्यूट की जाएगी. मेले में करीब 20 करोड़ रुपये ऊर्जा की खपत होगी.

कुंभ मेले को लेकर लार्ज स्केल पर काम हो रहा है. मेले के दौरान श्रद्धालुओं को बिजली संबंधी किसी प्रकार की कोई दुविधा न हो इसके लिए 226 करोड़ का प्रोजेक्ट तैयार किया गया है.

गोविंदराजू एनएस, एमडी, पीवीवीएनएल