भीषण गर्मी से इंसान ही नहीं बिजली के ट्रांसफार्मर भी बेहाल

ट्रांसफार्मर जलने और लोकल फॉल्ट की घटनाओं में काफी बढ़ोत्तरी

45 डिग्री तापमान में इंसानों के साथ बिजली का पारा भी गर्म हो रहा है। बिजली विभाग की तमाम कोशिशों के बाद भी भीषण गर्मी और आग रूपी धूप से ट्रांसफार्मर और बिजली उपकरण जवाब दे रहे हैं। कब कहां और किस समय पावर सप्लाई पर ब्रेक लग जाए यह कहना मुश्किल है। कहीं ट्रांसफार्मर में आग लग जा रही है तो कहीं लोड बढ़ने से लाइन ट्रिप कर जा रही है। इससे पानी की सप्लाई भी प्रभावित हो रही है। इस समस्या को लेकर जेई से लेकर उच्च अधिकारी तक परेशान हैं।

फॉल्ट ने 50 मिनट रोकी सप्लाई

बुधवार को 33 केवी उपकेन्द्र से निर्गत 11 केवी हनुमान फाटक पोषक पर, नेशनल इंटर कॉलेज के पास एलटी डिस्ट्रीब्यूशन बॉक्स में एमसीबी जल जाने से 50 मिनट तक आपूर्ति बाधित रही। इस दौरान हनुमान फाटक, पुलिस चौकी एवं फुलवरिया के आस-पास के सैकड़ों घर प्रभावित रहे। वहीं साकेत नगर में ट्रांसफार्मर में आग लगने से 25 मिनट तक बिजली गुल रही। इसके अलावा आनंदनुर में एचटी जंफर जोड़ने एवं कर्दमेश्वरपुरम में एरियल फ्यूज जलने से 25 मिनट के लिए आपूर्ति बाधित रही।

कई कालोनियों में बिजली गुल

इधर कुछ दिनों से शहर के कई इलाकों में इस तरह की समस्या आने से आधे से एक घंटे तक पावर सप्लाई बाधित हो रही है। सोमवार को लेढ़ूपुर स्थित 132 केवी पारेषण उपकेंद्र पर 100 और 40 एमवीए ट्रांसफार्मर के 33 केवी ऐक्शन आइसोलेटर के ज्वॉइंट पर अचानक अधिक लोड बढ़ने व ट्रिपिंग से आइसोलेटर में हॉट स्पॉट बन गया था। इससे बड़ा ट्रांसफार्मर डैमेज होने की आशंका बढ़ जाने से बिजली महकमे में हड़कंप मच गया। आनन फानन में एक घंटे का शट डाउन लेकर इसे ठीक कराया गया। इसके चलते शहर के करीब दो दर्जन कालोनियों में पावर सप्लाई बंद रही।

डिस्क इंसुलेटर हुआ खराब

लोकल फाल्ट के कारण मंगलवार को भी शहर के कई हिस्सों में पावर सप्लाई पर ब्रेक लगा रहा। वजह कोइलहवा उपकेंद्र पर बेस-बार में डिस्क इंसुलेटर क्षति ग्रस्त होना था। 33 केवी उपकेंद्र शंकुलधारा से जुड़े 11केवी फीडर अस्फाक नगर के पैनल की आउटगोइंग केबिल हीट होने से पावर कट हो गया। इसे ठीक करने के लिए 1.10 घंटे का शट-डाउन लिया गया।

गुल रही सैकड़ों घरों की बिजली

33 केवी उपकेंद्र भेलूपुर से जुड़े रेवड़ी तालाब में 400 केवीए ट्रांसफार्मर की जली हुई लीड को बदलने के लिए उपकेंद्र को बंद करना पड़ा। इस कारण इस क्षेत्र में 30 मिनट आपूर्ति प्रभावित रही। इसी दिन 33 केवी उपकेंद्र बेनियाबाग के कालीमहल फीडर से जुड़े ट्रांसफार्मर का 11 केवी डीओ व एचटी जंफर उड़ गया। इसे ठीक करने में बारी-बारी से 40 मिनट का वक्त लग गया। वहीं 33 केवी बीएचयू के सरायनंदन फीडर से जुड़े कृष्णदेव नगर में 11 केवी तार टूटने के कारण एवं सरायनंदन में एक घंटे आपूर्ति बाधित रही। 33 केवी लोहता उपकेंद्र से जुड़े केराकतपुर में एचटी जंफर टूकर पोल में सट जाने से करीब 40 मिनट सप्लाई ठप हो रही।

ढाई घंटे गुल रही बिजली

33 केवी उपकेंद्र कोइलहवा पर बस-बार में डिस्क इंसुलेटर क्षतिग्रस्त होने से कादीपुर, कालोनी-1, 2, नार्मल स्कूल, मेहता नगर में सुबह तीन से 5.55 बजे तक आपूर्ति प्रभावित रही। इसके अलावा 33 केवी उपकेंद्र काशी से जुड़े सरैया मोहल्ले में भी करीब ढाई घंटे सप्लाई ठप रहे।

एक नजर

5000

के करीब हैं ट्रांसफार्मर बनारस में

1800

के करीब एडवांस में

50

से ज्यादा मोबाईल टांसफार्मर

हम पूरा प्रयास कर रहे हैं कि शहर में पावर पर जरा भी ब्रेक न लगे। गर्मी की वजह से जहां भी फॉल्ट आ रहे हैं, तत्काल ठीक कराया जा रहा है। इसमें सम्मानित उपभोक्ताओं को भी सहयोग करना चाहिए।

आशीष अस्थाना, एसई, पीवीवीएनएल