-लहरतारा मे सड़क चौड़ीकरण के दौरान कैंसर हॉस्पिटल के पास 33 केवी का अंडरग्राउंड केबल हुआ क्षतिग्रस्त

-कैंट स्टेशन क्षेत्र में बिजली सप्लाई हुई प्रभावित

-बिजली विभाग ने पीडब्ल्यूडी से मांगा 13 लाख रुपये का मांगा हर्जाना

बिजली विभाग की मुसीबतें कम होने के बजाए बढ़ती ही जा रही हैं. कभी लोकल फाल्ट तो कभी ओवरलोड की समस्या झेल रहे विभाग के सामने पीडब्ल्यूडी ने अब नई परेशानी खड़ी कर दी है. इससे बिजली विभाग को लाखों का चूना भी लगा है. दरअसल पीडब्ल्यूडी की ओर से सड़क का चौड़ीकरण कराया जा रहा है. इस कार्य के दौरान लहरतारा कैंसर हॉस्पिटल के पास कई स्थानों पर 33 केवी का अंडरग्राउंड केबिल कट गया. इससे जहां उस एरिया की बिजली व्यवस्था ध्वस्त हो गई, वहीं विभाग को करीब 13,33,014 रुपये का नुकसान भी हुआ है. इस पर बिजली विभाग ने पीडब्ल्यूडी को नोटिस भेजकर हर्जाना मांगा है.

सड़कों की करा रहे मरम्मत

शासन के आदेश पर पीडब्ल्यूडी शहर में अपनी 14 सड़कों के चौड़ीकरण व मरम्मत का कार्य करा रहा है. इस बीच लहरतारा ओवरब्रिज व नवनिर्मित फ्लाईओवर के बीच कैंसर हॉस्पिटल के सामने सड़क की खोदाई के दौरान बिजली विभाग की बिछाई गई 33 केवी का अंडरग्राउड केबल क्षतिग्रस्त हो गया. इसकी वजह से कैंट स्टेशन के आसपास के एरिया में बिजली सप्लाई पूरी तरह से प्रभावित हो गई है.

वैकल्पिक व्यवस्था से सप्लाई

सड़कों की खोदाई में ध्वस्त हुई बिजली व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए बिजली विभाग ने वैकल्पिक व्यवस्था कर पावर सप्लाई शुरू करा दी है. अधिकारियों की मानें तो पीडब्ल्यूडी ने विभाग से बिना समन्वय बनाये सड़क के चौड़ीकरण का कार्य आरंभ करा दिया. असावधानी पूर्वक कार्य करने की वजह से करीब दो सौ मीटर की लंबाई में 33 केवी का अंडरग्राउंड केबल क्षतिग्रस्त हो गया. पीडब्ल्यूडी की कार्यदायी संस्था की ओर से कराये जा रहे इस कार्य के दौरान अब तक कई स्थानों पर केबल डैमेज हो चुका है.

देना होगा 13,33,014 रुपये

बिजली विभाग ने खोदाई के दौरान हुए नुकसान का आकलन कर क्षतिपूर्ति के लिए लोक निर्माण विभाग-प्रांतीय खंड के अधिशासी अभियंता को पत्र लिखकर हर्जाना मांगा है. विभाग ने बिजली के केबल और मरम्मत कार्य के लिए पीडब्ल्यूडी से 13,33,014 रुपये की धनराशि चौकाघाट स्थित नगरीय विद्युत वितरण खंड-द्वितीय में जल्द जमा कराने को कहा है.

वर्जन

जिस एरिया में बिजली की व्यवस्था डिस्टर्ब हुई है वहां वैकल्पिक केबल से सप्लाई कराई जा रही है. सात ही क्षतिग्रस्त हुए केबल को लेकर पीडब्ल्यूडी को पत्र लिखकर हर्जाना मांगा गया है.

डीके द्विवेदी, अधिशासी अभियंता, पीवीवीएनएल