1- मेड‍िकली कंडीशन पर
पीपीएफ अकाउंट 15 साल पर मैच्‍योर होता है। यदि इस अकाउंट को 5 वर्ष पूरे हो चुके हैं तो कुछ मौकों पर इस अकाउंट को बंद करवाया जा सकता है। मेडिकल कारणों से आप टाइम से पहले पीपीएफ अकाउंट बंद करा सकते हैं। यदि आपका पार्टनर, बच्‍चा या पेरेंट गंभीर बीमारी से पीडि़त है तो उनके ईलाज के लिए आप पीपीएफ अकाउंट बंद करवा सकते हैं। इस ग्राउंड पर दवा करने के लिए आपको मेड‍िकल अथॉर‍िटी से सर्टिफाई डॉक्‍यूमेंट देने होंगे।

2- उच्‍च शिक्षा के लिए

समय से पहले पीपीएफ अकाउंट उच्‍च शिक्षा के ल‍िए भी बंद कि‍या जा सकता है। खाता धारक अपने या अपने बच्‍चे की उच्च शिक्षा के लिए पीपीएफ अकाउंट बंद करवा सकता है। इसके लि‍ए उसे मान्यता प्राप्त संस्थान में प्रवेश और श‍िक्षण शुल्‍क की प्रत‍िल‍िप‍ियां लगानी होंगी। इस ग्राउंड पर खाता बंद करवाने के लिए अकाउंट का कम से कम पांच वर्ष पुराना होना जरूरी है।

3- बंद होने पर पेनाल्‍टी

समय से पहले पीपीएफ अकाउंट बंद कराने पर आपको कुछ पेनाल्‍टी देनी होगी। यदि आप किन्‍हीं कारणों से खाता समय से पहले बंद करवा रहे हैं तो आपको 1 फीसदी कम ब्‍याज मिलेगा। हालांकि कुल धनराशि की सटीक गणना के लिए आपको संबंधित बैंक या डाक घर से संपर्क करना होगा।

4- पीपीएफ अकाउंट पर लोन
पीपीएफ अकाउंट पर लोन भी आसानी से ल‍िया जा सकता है। ऐसा लोन लेने के लिए आपका पीपीएफ अकाउंट कम से कम 3 साल पुराना होना चाहिए। इस मद से लिया गया लोन 3 साल के भीतर ही चुकाना पड़ता हे।

5- मैच्‍योरिटी के बाद भी बढ़ा सकते हैं टाइम
पीपीएफ अकाउंट का एक बड़ा फायदा यह है क‍ि यद‍ि खाता धारक चाहे तो 15 साल की मैच्‍योरिटी पीरियड पूरा होने के बाद कुछ अतिरिक्‍त समय के लिए बढ़वा सकते हैं। इसके ल‍िए बस एक एप्लीकेशन देना होगा। एक बार में 5 साल तक के लिए टाइम बढ़ाया जा सकता है।

Business News inextlive from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk