क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: जो बोले सो निहाल सतश्री अकाल के जयकारे से पार्किंग गेट से निकलकर बाल द्वारका दास मुंजाल के घर के सामने से होते हुए ऋषिकेश गिरधर, जीतू काठपाल, ओम प्रकाश बरेजा, जीतू बजाज, अर्जन दास मुजांल, पुरुषोत्तम थरेजा की गलियां व भगत सिंह मिढा के घर से होते हुए गुरुद्वारा साहिब के पार्किंग गेट वापस पहुंच कर प्रभात फेरी संपन्न हुई. मौका था सुबह 5.30 बजे गुरुद्वारा श्री गुरु नानक सत्संग सभा कृष्णा नगर कॉलोनी द्वारा निकाली गई दूसरे दिन की प्रभात फेरी का था.

शबद गायन से संगत निहाल

सत्संग सभा की कीर्तन मंडली के सुंदर दास मिढा, रमेश पपनेजा, ईशान काठपाल, इन्दर मिढा, जीतू काठपाल, बीबी प्रीतम कौर, गीता कटारिया, शीतल मुंजाल, रेशमा गिरधर, नीता मिढा, इंदु पपनेजा, बबिता पपनेजा, मंजीत कौर, बबली मिढा एवं डॉली गिरधर ने सबते वडा सतगुर नानक जिन कल राखी मेरी.., गुण गावां दिन रात नानक चाहो एहो..व मैं गरीब मैं मसकीन तेरा नाम है आधारा.. जैसे कई शबद गायन कर श्रद्धालुओं को भक्ति के सागर में डुबोया.

पुष्पवर्षा कर फेरी का स्वागत

गुरु घर के सेवक मनीष मिढा ने श्रद्धालुओं के घरों के सामने अरदास कर कुशल क्षेम की कामना की. सभा के मीडिया प्रभारी नरेश पपनेजा ने बताया कि सभी श्रद्धालुओं ने फेरी के स्वागत में अपने-अपने घरों के सामने सफाई की एवं जल छिड़काव किया तथा पुष्पवर्षा से फेरी का स्वागत किया और हर चौक-चौराहे पर प्रसाद का वितरण किया. प्रभात फेरी में मुख्य रूप से जयराम दास मिढा, द्वारका दास मुंजाल, अशोक गेरा, जीवन मिढा, हरगोविंद सिंह, महेश सुखीजा, राजेन्द्र, मोहन काठपाल, अमर मदान, लक्ष्मण दास मिढा, सुरेश मिढा, हरीश मिढा, अनूप गिरधर, बिनोद सुखीजा, वेद प्रकाश मिढा, पवनजीत सिंह खत्री, रमेश तेहरी, कमल मुंजाल, हरविंदर सिंह, लक्ष्मण दास सरदाना, बलदेव सिंह, जोगिन्दर सिंह मिढा, बसंत काठपाल, रमेश गिरधर, गुलशन मिढा, सुरजीत मुंजाल, लक्ष्मण अरोड़ा, सूरज झंडई, गौरव मिढा, आकाश थरेजा, अमन डावरा, पीयूष मिढा, नितिन थरेजा, आशु मिढा, नवीन मिढा, रिक्की मिढा, दुर्गी मिढा, बिमला मुंजाल, तीर्थी काठपालिया, रजनी तेहरी, बंसी मल्होत्रा, गोविन्द कौर, शीतल मुंजाल, बेबी मुंजाल, खुशबू मिढा, उषा झंडई, नीतू किंगर, ममता थरेजा, श्वेता मुंजाल शामिल हुए.