प्रयागराज मेला प्राधिकरण तय करेगा कुंभ मेला के दौरान संगम की सैर के लिए नावों का रेट

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: संगम की सैर करने के लिए अभी तक आपको या देश के किसी भी हिस्से से आने वाले पर्यटकों से नाविक अपनी मर्जी के हिसाब से किराया वसूलते थे. कोई रेट निर्धारित ना होने की वजह से आप ठगा हुआ भी महसूस करते होंगे. अब यह मनमानी ज्यादा दिनों तक नहीं चल पाएगी. प्रयागराज मेला प्राधिकरण ने नावों का रेट निर्धारित करने का फैसला किया है. यह व्यवस्था कुंभ के पहले से शुरु होकर हमेशा के लिए उपलब्ध कराने की भी योजना है.

बदल जाएगा नावों का रंग

किला घाट से लेकर संगम नोज के बीच प्रतिदिन एक हजार नाविकों का जमावड़ा होता है. ये यात्रियों को संगम की सैर कराते हैं. कुंभ मेला के दौरान साधारण सी दिखने वाली नावों का रंग बदल जाएगा. मेला प्राधिकरण ने नावों का रेट तय करने के साथ ही उसको नए रंग में रंगवाने का भी निर्णय लिया है. कुंभ मेला के एसडीएम राजीव राय की मानें तो सभी नावों को एक रंग व एक लुक दिया जाएगा. इस पर मेला प्राधिकरण की जल्द होने वाली बैठक में निर्णय लिया जाएगा.

महत्वपूर्ण तथ्य

- मेला से पहले नाविकों की छोटी-छोटी टोली बनाकर गोताखोरी का प्रशिक्षण दिया जाएगा.

- मेला की अवधि में सभी को एक-एक लाइफ सपोर्ट जैकेट उपलब्ध कराई जाएगी.

- कुंभ नगरी का दिव्य एहसास हो इसके लिए एक हजार नावों को नए रंग में रंगा जाएगा.

- श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए किला घाट के पास शिकायत निवारण केन्द्र स्थापित किया जाएगा.

- मेला एरिया में जगह-जगह नावों की रेट लिस्ट का बोर्ड लगाया जाएगा.

संगम नोज के आसपास श्रद्धालुओं से अधिक किराया लेने की शिकायतें आती रहती हैं. इस दिक्कत से छुटकारा दिलाने के लिए रेट निर्धारण का निर्णय लिया है. इसके बाद सभी नाविक एक समान रेट लेंगे.

विजय किरण आनंद, कुंभ मेलाधिकारी