i exclusive

-देश के किसी भी स्टेशन से इलाहाबाद व आस-पास के स्टेशनों के नहीं होगी पार्सल बुकिंग

15 जनवरी से चार मार्च तक 49 दिनों का कुंभ मेला है.

49 दिनों में कुल छह बड़े स्नान पर्व पड़ने हैं.

15 करोड़ के आसपास श्रद्धालुओं के आने का है अनुमान.

35 दिन पार्सल बुकिंग पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा.

08 करोड़ रुपए का सामान विभिन्न ट्रेनों से आता है प्रयागराज.

800 व्यापारी जुड़े हैं रेलवे की पार्सल बुकिंग से.

balaji.kesharwani@inext.co.in

PRAYAGRAJ: दिल्ली, मुंबई, हावड़ा, मध्य प्रदेश, बिहार के साथ ही देश के अन्य राज्यों से ट्रेनों के जरिए सामान मंगाने और सामान भेजने वाले व्यापारी अभी से तैयारी कर लें. या फिर अगले दो महीने के लिए स्टॉक अभी से रख लें. वजह, कुंभ के दौरान देश के किसी भी कोने से इलाहाबाद आने वाली ट्रेन के लिए पार्सल बुक नहीं होगा. कुंभ के दौरान आने वाली लाखों की भीड़ की व्यवस्था और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेलवे बोर्ड ने यह आदेश जारी किया है.

सभी जोन को दिया गया आदेश

रेलवे बोर्ड का यह आदेश रेलवे के सभी जोनों को जारी किया गया है. इसमें स्पष्ट उल्लेख है कि प्रयागराज (इलाहाबाद) में अगले माह से लगने वाले कुंभ के दौरान देश के किसी भी स्टेशन से इलाहाबाद व उसके आसपास के स्टेशनों के लिए पार्सल बुक नहीं होगा. यह निर्णय इसलिए लिया गया है ताकि कुंभ के दौरान इलाहाबाद पहुंचने वाले लाखों श्रद्धालुओं को पार्सल की वजह से आने-जाने में दिक्कत न हो. इसके साथ ही सुरक्षा व्यवस्था को भी मद्देनजर रखा गया है.

फल, फूल और सब्जी भी आती है

दिल्ली से आने वाली दो दर्जन ट्रेनों में रीवांचल, प्रयागराज, दूरंतो, मंडुवाडीह एक्सप्रेस से बड़ी मात्रा में पार्सल आता है. जिसमें प्रयागराज के व्यापारियों का माल शामिल होता है. पान, कपड़ा, सब्जी, फल-फूल बड़ी मात्रा में ट्रेनों से प्रति दिन प्रयागराज आता है. कुंभ के दौरान प्रतिबंध लगने पर इन सामानों के आवक पर प्रतिबंध लग जाएगा. वहीं बाई रोड अधिक खर्च कर सामान मंगाना होगा.

स्नान पर्व

मकर संक्रांति 15 जनवरी

पौष पूर्णिमा 21 जनवरी

मौनी अमावस्या 04 फरवरी

बसंत पंचमी 10 फरवरी

माघी पूर्णिमा 19 फरवरी

महाशिवरात्रि 04 मार्च

पार्सल बुकिंग पर बैन की डेट्स

12 से 18 जनवरी तक

18 से 24 जनवरी तक

01 फरवरी से 07 फरवरी तक

07 फरवरी से 13 फरवरी तक

16 फरवरी से 22 फरवरी तक

01 मार्च से 04 मार्च तक

कुंभ के दौरान आने वाले पैसेंजर्स को दिक्कत न हो और सुरक्षा में कोई सेंध न लगे, इसलिए पार्सल बुकिंग पर प्रतिबंध लगाया गया है. प्रतिबंध प्रतिदिन नहीं बल्कि स्नान पर्व से पहले और कुछ दिन बाद तक होगा. पार्सल न आने से रेलवे को आर्थिक नुकसान भी होगा. लेकिन मेले के दौरान आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा पहली प्राथमिकता है.

-सुनील कुमार गुप्ता

पीआरओ, इलाहाबाद मंडल